Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट-चेक: टोल बूथ को लेकर वायरल हो रही अख़बार की क्लिप का सच

सोशल मीडिया पर अखबार की एक क्लिप शेयर कर दावा किया जा रहा है कि टोल बूथ पर 12 घंटे की पर्ची मांगकर 12 घंटे तक बिना टोल टैक्स दिए यात्रा की जा सकती है।

टोल टैक्स भारत सरकार द्वारा लिया जाने वाला एक ऐसा कर है जिसे आमदनी या निवास स्थान के इतर सड़क पर चलने वाले हर वाहन चालक को देना पड़ता है। Passenger Car Unit (PCU) की श्रेणी में आने वाले वाहनों के लिए टोल टैक्स नही देना पड़ता है। हालांकि इंडियन नेशनल हाईवे अथॉरटीज इस संबंध मे समय-समय पर बदलाव करता रहता है।

अब सोशल मीडिया पर महत्वपूर्ण जानकारी बताकर अख़बार की एक क्लिप शेयर दावा किया जा रहा है कि टोल बूथ पर 12 घंटे की पर्ची मांगकर 12 घंटे तक बिना टोल टैक्स दिए यात्रा की जा सकती है।

फैक्ट चेक

टोल बूथ पर 12 घंटे की पर्ची मांगकर 12 घंटे तक बिना टोल टैक्स दिए यात्रा किये जाने संबंधी दावे के साथ शेयर की जा रही अखबार की इस क्लिप को हमने गूगल पर सर्च किया. लेकिन इस बाबत हमें कोई ठोस जानकारी प्राप्त नहीं हुई।

इसके बाद हमने “टोल बूथ पर 12 घंटे की पर्ची मांगकर 12 घंटे तक बिना टोल टैक्स दिए यात्रा की जा सकती है” कीवर्ड्स को गूगल पर सर्च किया। इस पर हमें दैनिक भास्कर, अमर उजाला समेत कई अन्य मीडिया पोर्टल्स द्वारा प्रकाशित रिपोर्टस के माध्यम से यह जानकारी मिली कि वायरल किया जा रहा दावा गलत है, क्योंकि जैसे ही कोई शख्स टोल बूथ पार करता है वैसे ही टोल पर्ची की वैधता समाप्त हो जाती है. इसके साथ ही हमें यह जानकारी भी मिली कि वायरल दावा पिछले कई सालों से शेयर किया जा रहा है।

इसके बाद हमें अमर उजाला के 28 दिसंबर 2018 में प्रकाशित लेख में हमें Ministry of Road Transport and Highways, में 2018 को शेयर किया गया एक ट्वीट प्राप्त हुआ. जिसमे वायरल दावे को गलत बताते हुए स्पष्टीकरण जारी किया गया है।

इसलिये हम इस नतीजे पर पहुंचे, कि सोशल मीडिया पर अख़बार की क्लिप को आधार बनाकर किया जाने वाला दावा फर्जी है, जिसका सच्चाई से कोई लेना-देना नहीं है।