Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट चेकः मिडल-ईस्ट में ट्विटर पर फेक तस्वीरों के साथ भारत विरोधी हैशटैग वायरल

10 अक्टूबर 2021 को भारत और कश्मीर से जुड़े कई हैशटैग मिडिल ईस्टर्न ट्विटर पर ट्रेंड करने लगे। ये हैशटैग #india_is_the_terrorist_country, #help_Kashmir, #Modi_is_a_terrorist, #save_kashmir, #free_kashmir हैं। इनमें से सभी हैशटैग को अरबी भाषा में भी ट्वीटर पर शेयर किया गया था।

कश्मीर पर किए जा रहे हैशटैग में लोगों को एक साथ आने और कश्मीर में भारत को कथित तौर पर हमले करने से रोकने का आह्वान किया गया था। इस हैशटैग के साथ कई यूजर्स ने अपने दावे का समर्थन करने के लिए कई तस्वीरें भी पोस्ट की। हमने उनमें से कुछ तस्वीरों की तथ्यात्मक जांच की।

फैक्ट चेकः

कश्मीर को लेकर किए जा रहे कई दावों में एक दावा सड़क पर एक व्यक्ति की भीड़ द्वारा पिटाई किए जाने का है। तस्वीर को रिवर्स सर्च करने पर हमें पता चला कि यह फोटो रॉयटर के दिवंगत फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी द्वारा खींची गई है, जो कश्मीर की नहीं बल्कि 2020 में दिल्ली दंगों के दौरान की है। जिसे दानिश ने अपने कैमरे से खींचा था।

वायरल हो रहे दूसरे पोस्ट में इस्तेमाल की गई दूसरी तस्वीर रोते हुए लड़के की है। तस्वीर को रिवर्स सर्च करने पर हमने पाया कि यह तस्वीर भी कश्मीर की नहीं बल्कि दिल्ली दंगों की है। रोता हुआ दिख रहा लड़का दंगों के दौरान अपनी जान गंवाने वाले मुदस्सिर खान का बेटा है।

एक लेख में प्रयुक्त छवि

इन दोनों तस्वीरों की जांच से सामने आया है कि ये दोनों फोटो कश्मीर का नहीं बल्कि दिल्ली दंगों के दौरान का है, जिसे कश्मीर का बताकर भारत विरोधी हैशटैग के साथ वायरल किया जा रहा है। इसलिए मिडल-ईस्ट के सोशल मीडिया यूजर्स द्वारा किया जा रहा दावा झूठा और गलत है।