Digital Forensic, Research and Analytics Center

सोमवार, जून 27, 2022
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
होमFact Checkसोशल मीडिया पर क्यों ट्रोल हो रहे राहुल गांधी, पढ़िए- फैक्ट चेक

सोशल मीडिया पर क्यों ट्रोल हो रहे राहुल गांधी, पढ़िए- फैक्ट चेक

Published on

Subscribe us

देश में कोयला संकट पर अपने बयान के बाद राहुल गांधी एक बार फिर इंटरनेट ट्रोल आर्मी के निशाने पर हैं। राहुल ने कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार को “घृणा का बुलडोजर” चलाना बंद कर देना चाहिए और इसके बजाय बिजली संयंत्र चलाना चाहिए। आज पूरे देश में कोयले और बिजली संकट ने तबाही मचा रखी है। राहुल गांधी ने फिर से दोहराते हुए कहा- “मैं फिर से कह रहा हूं – यह संकट छोटे उद्योगों को नष्ट कर देगा, जिससे बेरोजगारी और बढ़ेगी। छोटे बच्चे इस भीषण गर्मी को बर्दाश्त नहीं कर सकते। अस्पतालों में भर्ती मरीजों का जीवन दांव पर है। वित्तीय, रेल और मेट्रो सेवाओं को रोकने से नुकसान होगा।”

मोदी वन्स मोर नाम के एक फेसबुक पेज ने एक पोस्ट शेयर की गई, जिसमें लिखा था, “हाल के दिनों में भारत का कोयला उत्पादन बढ़ा है। कारखानों को नियमित बिजली की आपूर्ति मिल रही है। फिर भी राहुल गांधी कहते हैं कि भारत कोयला संकट का सामना कर रहा है। कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी पर हमला करने के लिए एक हताश प्रयास में राहुल गांधी अपना मजाक उड़ा रहे हैं।”

इसी तरह कई और यूजर्स ने इस पोस्ट को शेयर किया है।

कोयला संकट पर अपने बयान को लेकर राहुल इंटरनेट पर ट्रोल हो रहे हैं। वहीं केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी ने राहुल को फर्जी ज्योतिषी बताया है।

फैक्ट चेकः

तथ्य जांच विश्लेषण में हमने वास्तविक कोयला उत्पादन और कोयले की आपूर्ति की जांच की। हमें केंद्रीय संसदीय कार्य और कोयला खनन मंत्री प्रह्लाद जोशी का एक हालिया ट्वीट मिला। जिसमें उन्होंने लिखा, “@CoalIndiaHQis देश की ऊर्जा सुरक्षा को बढ़ा रहा है। अप्रैल ’22 में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। 2019 में कोयले का उत्पादन 45.29 मीट्रिक टन था और इसमें वृद्धि हुई अप्रैल-22 में 53.47 मीट्रिक टन है, जो 6% की वृद्धि है।”

इसके अलावा, राष्ट्रीय बिजली पोर्टल की आधिकारिक साइट पर प्रकाशित रिपोट्स के अनुसार, कोयले के उत्पादन में वृद्धि हुई है, लेकिन देश भर के विभिन्न थर्मल स्टेशनों को कोयले की कमी का सामना करना पड़ा।

इसके अलावा, भारतीय रेलवे ने कोयला परिवहन सुनिश्चित करने के लिए 657 ट्रेनों को रद्द कर दिया। फाइनेंशियल एक्सप्रेस ने 27 अप्रैल को “यूपी में 13 थर्मल पावर प्लांटों में से 11 में कोयला स्टॉक ‘गंभीर’ स्तर तक पहुंचने पर एक रिपोर्ट जारी की।”

द हिंदू की एक रिपोर्ट के अनुसार, प्रहलाद जोशी ने कहा कि कोयले की कमी से घबराएं नहीं।

यह भी पढ़े: एलन मस्क के बारे में एक और झूठा दावा वायरल हुआ

निष्कर्षः

चूंकि, कोयले का उत्पादन बढ़ा है लेकिन अभी भी देश के विभिन्न हिस्सों में कोयला संकट का सामना करना पड़ रहा है। इसलिए, वायरल दावा भ्रामक है। यह पूरी कहानी को ध्यान में नहीं रखता है।

दावा: हाल के दिनों में भारत के कोयला उत्पादन में वृद्धि हुई है। फैक्ट्रियों को नियमित बिजली मिल रही है। फिर भी राहुल गांधी का कहना है कि भारत कोयला संकट का सामना कर रहा है

दावा किया गया: सोशल मीडिया यूजर्स

फैक्ट चेक: भ्रामक

 

Popular of this week

Latest articles

फैक्ट चेक: मरमेड के वायरल वीडियो के पीछे की सच्चाई क्या है?

मरमेड का एक वीडियो सोशल मीडिया साइट्स पर खूब शेयर किया जा रहा है।...

फैक्ट चेकः कोड़े की मार खाते यह तस्वीर भगत सिंह की नहीं है, भ्रामक दावा हो रहा वायरल

सोशल मीडिया पर फोटो वायरल हो रही है। यह फोटो ब्लैक एंड व्हाइट है।...

उद्धव ठाकरे ने मुगल बादशाह औरंगजेब की तारीफ की?, पढ़ें- फैक्ट चेक

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का एक वीडियो सोशल मीडिया साइट्स पर वायरल हो...

all time popular

More like this

फैक्ट चेक: मरमेड के वायरल वीडियो के पीछे की सच्चाई क्या है?

मरमेड का एक वीडियो सोशल मीडिया साइट्स पर खूब शेयर किया जा रहा है।...

फैक्ट चेकः कोड़े की मार खाते यह तस्वीर भगत सिंह की नहीं है, भ्रामक दावा हो रहा वायरल

सोशल मीडिया पर फोटो वायरल हो रही है। यह फोटो ब्लैक एंड व्हाइट है।...

उद्धव ठाकरे ने मुगल बादशाह औरंगजेब की तारीफ की?, पढ़ें- फैक्ट चेक

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का एक वीडियो सोशल मीडिया साइट्स पर वायरल हो...

फ़ैक्ट चेक: बाल ठाकरे की आनंद दिघे को तिलक लगाने वाली तस्वीर एकनाथ शिंदे की बताकर वायरल

महाराष्ट्र में सियासी उथल पुथल मची हुई है। शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे के नेतृत्व...

महाराष्ट्र में शिवसेना और NCP कार्यकर्ताओं के बीच हुई हाथापाई और मारपीट?, पढ़ें- फैक्ट चेक

महाराष्ट्र में शिवसेना अपने विधायकों की बगावत से जूझ रही है। पार्टी के कई...