Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट-चेक: नासा ने अपोलो मिशन की तस्वीरों पर पृथ्वी की तस्वीर चिपकाई

हाल के कुछ दिनों में एक इंटरव्यू का वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया गया है। वीडियो में एक व्यक्ति को नासा द्वारा अंतरिक्ष से पृथ्वी की जारी की गई तस्वीरों पर सवाल करते देखा जा सकता है। वह शख्स इन तस्वीरों के नेचर पर सवाल उठाते रहा है, उन्हें फोटोशॉप्ड और पुनर्निर्मित बता रहा है।

वीडियो में, वह शख्स पृथ्वी के साथ चंद्रमा से ली गई अपोलो 17 मिशन की तस्वीर पर सवाल उठाता है। उन्होंने इन तस्वीरों को फोटोशॉप्ड बताया है।

फैक्ट चेक:

रिवर्स की-फ्रेम सर्च से हमें उस शख्स की पहचान मिली, वह शख्स डेव मर्फी है, जो एक प्रसिद्ध फ्लैट-अर्थर है, यानी वह पृथ्वी को समतल मानने वाले लोगों में से है। उनका दावा है कि जब फोटो का एक्सपोजर कम हो जाता है, तो ऐसा लगता है कि पृथ्वी के चारों ओर एक ब्लॉक बन गया है जिससे उसे विश्वास हो गया है कि फोटो फोटोशॉप्ड है।


हालाँकि, हमारी जाँच में हमने पाया कि तस्वीरें, पुरानी है और इसलिए इसमें गुणवत्ता का अभाव है। जब कोई छवि खराब रिज़ॉल्यूशन में होती है, तो वह पिक्सेलेट हो जाती है। इसके अलावा, हमने उसी परीक्षण के साथ अन्य निम्न गुणवत्ता वाली छवियों की जाँच की जो मर्फी ने इस छवि पर लागू की और समान परिणाम पाए। इसलिए यह दावा फर्जी है।