Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट-चेक: क्या बांग्लादेश में हिंदू पंडित ने कुरान को हिन्दू देवता के पैरों पर रखा था?

बांग्लादेश में चल रहे सांप्रदायिक झड़पों के बीच कई तस्वीरें और वीडियो फर्जी दावों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे हैं। कई उपयोगकर्ताओं द्वारा पोस्ट किए गए दावों के बीच एक दावे में ये आरोप लगाया गया कि एक हिंदू पुजारी ने पवित्र कुरान को एक हिंदू देवता के पैर पर रखा। जिससे कुरान का अनादर हुआ। कहा जाता है कि यह विशेष तस्वीर दुर्गा पूजा के दौरान हुई देशव्यापी हिंसा का कारण बनी।

फैक्ट चेकः

कीवर्ड के साथ एक साधारण रिवर्स इमेज सर्च करने पर, हमें इस मामले पर ढाका ट्रिब्यून की एक समाचार रिपोर्ट मिली। रिपोर्ट के अनुसार, इस कृत्य के लिए पहचाना गया व्यक्ति हिंदू पंडित नहीं है, बल्कि इकबाल हुसैन नाम का एक व्यक्ति है, जिसे सीसीटीवी फुटेज के जरिए पहचाना गया और उसकी तलाश की जा रही है।

इससे साबित होता है कि कुरआन की प्रति को हिन्दू पुजारी ने नहीं बल्कि मुस्लिम शख्स ने रखा था। इसलिए सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा झूठा और भ्रामक है।