Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

पाकिस्तानी एथलीट अरशद नदीम ने की थी नीरज चोपड़ा की जैवलीन से छेड़छाड़?

भारत के लिए ओलम्पिक में गोल्ड मेडल जीतने वाले एथलीट नीरज चोपड़ा को लेकर इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब हो हल्ला मच रहा है। कई लोग दावा कर रहे हैं कि नीरज चोपड़ा की जैवलीन से पाकिस्तानी एथलीट नदीम अरशद ने छेड़छाड़ की कोशिश की थी। इसके लिए लोग नीरज चोपड़ा के एक इंटरव्यू का हवाला दे रहे हैं।

नीरज चोपड़ा ने अपने उस इंटरव्यू में कहा था- “मैं ओलम्पिक के फाइनल से पहले अपनी जैवलीन को ढूंढ रहा था। मैं उसे ढूंढ नहीं पा रहा था। तभी मैंने देखा कि अरशद नदीम मेरी जैवलीन लेकर जा रहा है। तभी मैंने उससे कहा, भाई यह जैवलीन मुझे दे दो। यह मेरी है। मुझे इसे फेंकनी है। फिर उसने मुझे जैवलीन दे दी। इसलिए आपने देखा होगा कि मैंने अपना पहला थ्रो जल्दबाजी में किया।”

विभिन्न राइट विंग सोशल मीडिया आउटलेट्स द्वारा ट्वीट और समाचार रिपोर्ट

नीरज चोपड़ा के इंटरव्यू के इस हिस्से को जी न्यूज, स्वराज्य मैगजीन और ऑप इंडिया सहित कई मीडिया संस्थानों द्वारा प्रकाशित किया गया है। साथ ही अशोक पंडित, सौम्यादिप्त, अंशुल सक्सेना, वरदा मराठे, अरुण पुदुर और विकास पांडे जैसे वेरीफाइड ट्वीटर यूजर ने भी इस इंटरव्यू के हिस्से को शेयर किया है। वहीं कई लोग इसे शेयर करते हुए दावा कर रहे हैं कि पाकिस्तानी खिलाड़ी ने चोपड़ा की जैवलीन से छेड़छाड़ की कोशिश की थी। इनमें कई ट्वीटर अकाउंट तो ऐसे हैं, जिनको खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा फॉलो किया गया है। साथ ही यह भी दावा किया जा रहा है कि पाकिस्तानी खिलाड़ी ऐसा इसलिए करना चाहता था क्योंकि उसकी मंशा थी कि भारत को ओलम्पिक में गोल्ड मेडल जीतने से रोका जाए।

क्या है नीरज चोपड़ा का बयान?

सोशल मीडिया पर नीरज चोपड़ा का इंटरव्यू वायरल होते ही खलबली मच गई। लोगों के पाकिस्तानी खिलाड़ी द्वारा जैवलीन के साथ छेड़छाड़ के दावों के बीच नीरज चोपड़ा खुद सामने आए। उन्होंने अपने ट्वीटर अकाउंट से वीडियो जारी करते हुए खुद इस मामले पर स्पष्टीकरण भी दिया। नीरज चोपड़ा ने कहा कि, हम प्रतियोगिता के दौरान अपने व्यक्तिगत जैवलीन का उपयोग कर सकते हैं। हालाँकि, हर दूसरे खिलाड़ी भी एक-दूसरे का जैवलीन इस्तेमाल कर सकते हैं और यही नियम भी है। यह गलत नहीं है और वह (नदीम) मेरी जैवलीन के साथ थ्रो करने के लिए तैयारी कर रहा था। मैंने उससे अपनी जैवलीन अपने थ्रो के लिए मांगी और यह कोई बड़ी बात नहीं है। मुझे बहुत दुख है कि इसे बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया जा रहा है। मैं सभी से अनुरोध करता हूं कि ऐसा न करें। खेल हमें एकजुट रहना सिखाता है और हम सभी जैवलीन फेंकने वाले एक-दूसरे के साथ बहुत ही मिलनसार और सौहार्दपूर्ण होते हैं। कृपया ऐसा कुछ भी न कहें जिससे हमें ठेस पहुंचे।

नीरज चोपड़ा ने पोस्ट की सफाई

इससे आगे नीरज चोपड़ा इस घटना के बारे में समाचार मीडिया और व्यक्तियों द्वारा फैलाए गए अनावश्यक प्रचार को नहीं करने का आह्वान करते हैं। इसलिए दक्षिणपंथी मीडिया और दूसरे व्यक्तियों द्वारा पाकिस्तानी खिलाड़ी के जैवलीन के साथ छेड़छाड़ की कोशिश का किया गया दावा झूठा और भ्रामक है।