Digital Forensic, Research and Analytics Center

सोमवार, जून 27, 2022
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
होमFact Checkफैक्ट चेकः Samajwadi Party नेता ने लिसिप्रिया कंगुजम को विदेशी बताने के...

फैक्ट चेकः Samajwadi Party नेता ने लिसिप्रिया कंगुजम को विदेशी बताने के पीछे मीडिया को ठहराया दोषी

Published on

Subscribe us

ताजमहल को लेकर Samajwadi Party के डिजिटल मीडिया कोआर्डिनेटर मनीष जगन अग्रवाल ने एक फोटो शेयर किया है। इस फोटो में दिख रहा है कि एक बच्ची हाथ में पोस्टर लिए ताजमहल के पीछे की साइड में खड़ी है। इस पोस्टर में लिखा है- “Behind the beauty of Tajmahal is plastic pollution” जिसका हिन्दी अनुवाद है- “ताजमहल की खूबसूरती के पीछे प्लास्टिक प्रदूषण है”

मनीष जगन अग्रवाल ने इस तस्वीर को शेयर कर योगी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने लिखा- “विदेशी पर्यटक भी भाजपा शासित योगी सरकार को आईना दिखाने को मजबूर हैं, भाजपा की सरकार में यमुना जी गंदगी से भरी पड़ी हैं ,ताजमहल को खूबसूरती पर ये गंदगी एक बदनुमा दाग है, विदेशी पर्यटक द्वारा सरकार को आईना दिखाना बेहद शर्मनाक है, भारत और यूपी की ये छवि भाजपा सरकार ने बनाई है”

मनीष जगन अग्रवाल के इस ट्वीट को यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भी रिट्वीट किया है।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी की तारीफ करते ऑस्ट्रेलियाई पीएम का पुराना वीडियो वायरल

फैक्ट चेकः

वायरल हो इस फोटो की पड़ताल के लिए हमने सबसे पहले मनीष जगन अग्रवाल के पोस्ट की जांच की। इस दौरान हमें “कोट रिट्विट” में लिसिप्रिया कंगुजम (Licypriya Kangujam @LicypriyaK) का पोस्ट मिला। लिसिप्रिया ने मनीष जगन अग्रवाल को जवाब देते हुए लिखा- “Hello Sir, I’m a proud Indian. I’m not a foreigner” जिसका हिन्दी अनुवाद- “हेल्लो सर, मैं एक गौरवान्वित भारतीय हूं। मैं विदेशी नहीं हूं”

 

वीकिपीडिया के मुताबिक 10 वर्षीय लिसिप्रिया कंगुजम मणिपुर की रहने वाली हैं। वह एक भारतीय बाल पर्यावरण कार्यकर्ता हैं। उन्हें 2019 में डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम चिल्ड्रन अवार्ड से सम्मानित किया गया था। इसके अलावा उन्हें अंतरराष्ट्रीय बाल शांति पुरस्कार और इंडिया पीस प्राइज़ से भी सम्मानित किया जा चुका है।

वहीं लिसिप्रिया कंगुजम के स्पष्टीकरण के बाद सपा नेता मनीष जगन अग्रवाल ने अपनी सफाई पेश की। उन्होंने दावा किया उन्होंने इस खबर को एबीपी न्यूज पर देखा था, इसके लिए उन्होंने एबीपी न्यूज की एक न्यूज क्लिप भी शेयर की है।

इसके अलावा उन्होंने हिन्दुस्तान अखबार की एक कटिंग भी शेयर की, जिसमें उन्होंने दावा किया कि अखबार ने भी लिसिप्रिया कंगुजम को विदेशी बताया था।

निष्कर्षः

वायरल हो रहे फोटो की फैक्ट चेक से स्पष्ट हो रहा है कि Samajwadi Party

के नेता द्वारा किया जा रहा दावा भ्रामक है। उन्होंने जिस बाल सामाजिक कार्यकर्ता को विदेशी बताया वह भारत के मणिपुर राज्य की रहने वाली हैं।

दावा- विदेशियों ने ताजमहल के पीछे फैली गंदगी को उजागर किया

दावाकर्ता- मनीष जगन अग्रवाल और मीडिया

फैक्ट चेक- भ्रामक

Popular of this week

Latest articles

फैक्ट चेक: मरमेड के वायरल वीडियो के पीछे की सच्चाई क्या है?

मरमेड का एक वीडियो सोशल मीडिया साइट्स पर खूब शेयर किया जा रहा है।...

फैक्ट चेकः कोड़े की मार खाते यह तस्वीर भगत सिंह की नहीं है, भ्रामक दावा हो रहा वायरल

सोशल मीडिया पर फोटो वायरल हो रही है। यह फोटो ब्लैक एंड व्हाइट है।...

उद्धव ठाकरे ने मुगल बादशाह औरंगजेब की तारीफ की?, पढ़ें- फैक्ट चेक

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का एक वीडियो सोशल मीडिया साइट्स पर वायरल हो...

all time popular

More like this

फैक्ट चेक: मरमेड के वायरल वीडियो के पीछे की सच्चाई क्या है?

मरमेड का एक वीडियो सोशल मीडिया साइट्स पर खूब शेयर किया जा रहा है।...

फैक्ट चेकः कोड़े की मार खाते यह तस्वीर भगत सिंह की नहीं है, भ्रामक दावा हो रहा वायरल

सोशल मीडिया पर फोटो वायरल हो रही है। यह फोटो ब्लैक एंड व्हाइट है।...

उद्धव ठाकरे ने मुगल बादशाह औरंगजेब की तारीफ की?, पढ़ें- फैक्ट चेक

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का एक वीडियो सोशल मीडिया साइट्स पर वायरल हो...

फ़ैक्ट चेक: बाल ठाकरे की आनंद दिघे को तिलक लगाने वाली तस्वीर एकनाथ शिंदे की बताकर वायरल

महाराष्ट्र में सियासी उथल पुथल मची हुई है। शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे के नेतृत्व...

महाराष्ट्र में शिवसेना और NCP कार्यकर्ताओं के बीच हुई हाथापाई और मारपीट?, पढ़ें- फैक्ट चेक

महाराष्ट्र में शिवसेना अपने विधायकों की बगावत से जूझ रही है। पार्टी के कई...