Digital Forensic, Research and Analytics Center

सोमवार, अगस्त 8, 2022
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
होमFact Checkक्या है कानपुर प्रदर्शन के दौरान बर्बर पुलिस लाठी चार्ज की सच्चाई,...

क्या है कानपुर प्रदर्शन के दौरान बर्बर पुलिस लाठी चार्ज की सच्चाई, पढ़ें,फ़ैक्ट-चेक

Published on

Subscribe us

नुपुर शर्मा विवाद के बाद सोशल मीडिया साइट्स पर अलग अलग दावे के साथ बेतह़ाशा तस्वीरें और वीडियोज़ की बाढ़ सी आ गई है। इन्हीं में से वायरल हो रहे एक वीडियो में बर्बर पुलिस लाठी चार्ज के दृश्य देखे जा सकते हैं।

उदय प्रताप सिंह नामक एक यूज़र ने फ़ेसबुक कैप्शन,“#योगी_जी के जन्मदिन के अवसर पर यह विशाल भंडारा कानपुर (Kanpur) में चल रहा है। जो भी विशाल भंडारे में प्रसाद लेना चाहते हैं, वह लाइन से क्रमबद्ध होकर अवश्य पधारें, उन्हें प्रसाद संपूर्ण रूप से दिया जाएगा ताकि दोबारा आपको प्रसाद लेने की आवश्यकता ना पड़े। आइए और प्रसाद ग्रहण कीजिए, विशाल भंडारे में आप ही का प्रसाद है और आप ही को दिया जा रहा है जैसा आप ने बनाया है वैसा ही आप को परोसा जा रहा है।” के साथ एक वीडियो पोस्ट किया है। इस वीडियो में देखा जा सकता कि पुलिस बहुत सख़्त लाठी चार्ज कर रही है।

Facebook Screenshot

फ़ैक्ट चेक:

इंटरनेट पर हमने इस वीडियो के कुछ फ़्रेम को रिवर्स सर्च इमेज करने पर पाया कि यही वीडियो कैप्शन,“गोरखपुर: सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान पथराव में दो घायल,लाठीचार्ज” के साथ दिसंबर 2019 को यूट्यूब चैनल  Live Hindustan पर अपलोड किया गया है।

 

वहीं फ़ेसबुक पेज UPtv samachar पर भी कैप्शन,“#गोरखपुर: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गढ़ में नखास चौक पर नमाज के बाद भारी विरोध प्रदर्शन, पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई जमकर झड़प, जमकर चले ईंट-पत्थर और जूते, पुलिस ने हिंसक भीड़ पर भांजी लाठियां।” के साथ यही वीडियो पोस्ट किया गया है।

निष्कर्ष:

DFRAC के इस फ़ैक्ट चेक से साबित होता है कि यूज़र्स द्वारा भ्रामक दावे के साथ वीडियो पोस्ट किया गया है, क्योंकि असल वीडियो कानपुर (Kanpur) का नहीं बल्कि गोरखपुर सीएए विरोधी प्रदर्शन 2019 का है और इसका नुपुर शर्मा विवाद से इसका कोई वास्ता नहीं।

दावा: कानपुर प्रदर्शन के दौरान बर्बर पुलिस लाठी चार्ज

दावाकर्ता: सोशल मीडिया यूज़र्स

फ़ैक्ट चेक: भ्रामक

 (आप #DFRAC को ट्विटरफ़ेसबुकऔर यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)

Popular of this week

Latest articles

फैक्ट चेक: जगदीप धनखड़ देश के 16वें नहीं बल्कि 14वें उपराष्ट्रपति बने, पत्रिका ने चलाई गलत ख़बर

देश के प्रमुख राष्ट्रीय समाचार पत्रों में से एक पत्रिका ने जगदीप धनखड़ को...

फैक्ट चेकः हिन्दूओं ने गांव में बसाया था 1 मुस्लिम, अब मुस्लिम बाहुल्य हुआ गांव, हिन्दू कर गए पलायन?

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट तेजी से वायरल हो रहा है। इस पोस्ट को...

पैगंबर मुहम्मद की आड़ में भारत विरोधी एजेंडे का अंतर्राष्ट्रीय अभियान

पैगंबर मुहम्मद (ﷺ) का इस्लाम धर्म में अल्लाह के बाद सर्व्वोच स्थान है। दुनिया...

फैक्ट चेक: ‘ब्लादिमीर पुतिन बोले – POK खाली करो!’ जानिए – सच्चाई

सोशल मीडिया पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के नाम से एक पोस्ट बड़ी...

all time popular

More like this

फैक्ट चेक: जगदीप धनखड़ देश के 16वें नहीं बल्कि 14वें उपराष्ट्रपति बने, पत्रिका ने चलाई गलत ख़बर

देश के प्रमुख राष्ट्रीय समाचार पत्रों में से एक पत्रिका ने जगदीप धनखड़ को...

फैक्ट चेकः हिन्दूओं ने गांव में बसाया था 1 मुस्लिम, अब मुस्लिम बाहुल्य हुआ गांव, हिन्दू कर गए पलायन?

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट तेजी से वायरल हो रहा है। इस पोस्ट को...

पैगंबर मुहम्मद की आड़ में भारत विरोधी एजेंडे का अंतर्राष्ट्रीय अभियान

पैगंबर मुहम्मद (ﷺ) का इस्लाम धर्म में अल्लाह के बाद सर्व्वोच स्थान है। दुनिया...

फैक्ट चेक: ‘ब्लादिमीर पुतिन बोले – POK खाली करो!’ जानिए – सच्चाई

सोशल मीडिया पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के नाम से एक पोस्ट बड़ी...

फैक्ट चेक- केंद्र सरकार की योजनाओं में मुस्लिम लाभार्थियों पर पूर्व मंत्री नकवी ने किया भ्रामक दावा 

इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में राहुल कंवल द्वारा पूछे गए एक सवाल को संबोधित करते...

फैक्ट चेक:- क्या नितिन गडकरी पीएम मोदी की आलोचना कर रहे हैं?

नितिन गडकरी का एक वीडियो सोशल मीडिया साइट्स पर वायरल हो रहा है। वीडियो...