Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फेक्ट चेक: महाराष्ट्र में साहित्य सम्मेलन की क़ुरान के पाठ से शुरुआत करने का झूठा दावा वायरल

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है। जिसके साथ दावा किया जा रहा है कि महाराष्ट्र सरकार ने एक नई प्रथा शुरू की है। जिसके अंतर्गत अब साहित्य सम्मेलन की शुरुआत कुरान के पाठ से की जा रही है।

एक यूजर ने ट्वीट किया कि ‘मराठी साहित्य सम्मेलनों की ऐतिहासिक परंपरा रही है, इस बार महाराष्ट्र सरकार ने एक नई प्रथा शुरू की है पहले साहित्य सम्मेलनों की शुरुआत सरस्वती वंदना से होती थी अब साहित्य सम्मेलन की शुरुआत कुरान की आयतें पढ़कर हो रही हैं।’

यूजर का ट्वीट

इस तरह के दावे कई अन्य लोगों ने भी किए है।

अन्य यूजर के ट्वीट

फेक चेक्ट

यूट्यूब वीडियो

इस तस्वीर की पड़ताल करने पर हमने पाया कि ये तस्वीर एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले की है। जो एक शादी में ली गई। सुप्रिया सुले ने 4 दिसंबर, 2021 को अन्य तस्वीरें फेसबुक पर भी पोस्ट की। साथ ही कैप्शन दिया ‘हार्दिक बधाई समीर शमीम खान और परिवार!’

सुप्रिया सुले की फेसबुक पोस्ट

वहीं यूट्यूब पर सर्च करने पर हमने पाया आपका प्रहार टाइम्स द्वारा 7 दिसंबर को पोस्ट किया गया एक वीडियो पाया। जिसमे बताया गया कि सुप्रिया सुले एनसीपी के कलवा मुम्ब्रा से विधानसभा अध्यक्ष शमीम खान की बेटी सना और बेटे समीर की शादी में शामिल हुईं।

अत: यह दावा भ्रामक और झूठा है।