Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फेक्ट चेक: क्या मथुरा में अयोध्या की तर्ज पर कारसेवक जुटे हैं?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो को शेयर कर यह दावा किया गया कि मथुरा में कृष्ण भक्त जुट चुके हैं और अब अयोध्या की तर्ज़ पर मथुरा में भी कारसेवा करने की तैयारी कर रहे हैं। सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर, और फेसबुक पर इस वीडियो को बहुत सारे यूजर्स ने इसी कैप्शन के साथ पोस्ट किया है।

एक यूजर ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा कि ‘अयोध्या तो एक झांकी है, मथुरा काशी बाकी है। आज मथुरा में श्री कृष्ण भक्तों ने अपनी एकता दिखाते हुए बैरिकेडिंग तोड़ दी और श्री कृष्ण जन्मभूमि पर बनी मस्जिद को हटाने के लिये पहुंच गये। पुलिस प्रशासन ने भी इस नेक कार्य मे समर्थन किया, योगी जी ने वादा किया है कि कारसेवकों पर गोलियां नहीं सिर्फ़ फूलों की वर्षा होगी। जय श्री कृष्णा, हर हर महादेव।’

फैक्ट चेक

फ़ाइनेंष्यल एक्सप्रेस पर प्रकाशित रिपोर्ट

हमने वीडियो में किये गए दावे की सत्यता जानने के लिये इसे invid टूल की मदद से कुछ की-फ्रेम्स में बदला। इसके बाद एक की-फ्रेम के साथ गूगल रिवर्स सर्च किया। लेकिन हमें इस वीडियो से संबंधित कोई रिपोर्ट नहीं मिली। इसके बाद हमने एक की-फ्रेम के साथ कुछ कीवर्ड्स का प्रयोग करते हुए गूगल पर सर्च करना शुरू किया। इस दौरान गूगल रिजल्ट में हमारे की-फ्रेम से मिलती जुलती एक तस्वीर दिखी। जब हमने तस्वीर पर क्लिक किया तो 07 अक्टूबर, 2021 को financialexpress.com द्वारा प्रकाशित एक लेख प्राप्त हुआ। जिसके मुताबिक, छत्तीसगढ़ में धार्मिक झंडे के अपमान को लेकर यह प्रदर्शन हुआ था। लेख को पढ़ने के बाद पता चला कि मुमकिन है कि यह घटना मथुरा की ना होकर छत्तीसगढ़ में धार्मिक ध्वज के अपमान के बाद हुए विरोध प्रदर्शन की हो।

पुलिस का दावा

जैसे ही यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तुरंत यूपी पुलिस भी हरकत में आ गई, यूपी की मथुरा पुलिस ने एक यूजर के ट्वीट पर रिप्लई करते हुए कहा कि इस वीडियो का सम्बन्ध जनपद मथुरा से नहीं है, जिस व्यक्ति द्वारा इस भ्रामक वीडियो को पोस्ट किया गया है उसके विरूद्ध मुकदमा पंजीकृत किया गया है। वैधानिक कार्यवाही की जा रही है। कृपया अफवाह न फेलायें। शांति व्यवस्था बनाये रखने में सहयोग करें।

अत: यह स्पष्ट हो गया कि वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा फर्जी है।