Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट-चेक: किसान आंदोलन को लेकर दीपक चौरसिया ने किया भ्रामक दावा, जानें क्या है सच्चाई

21 अक्टूबर 2021 को न्यूज़ नेशन के कंसल्टिंग एडिटर दीपक चौरसिया ने दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसान आंदोलन बारे में एक अपडेट पोस्ट किया। ट्वीट में चौरसिया ने दावा किया है कि सुप्रीम कोर्ट की नाराजगी के बाद किसानों ने गाजीपुर बॉर्डर खाली करना शुरू कर दिया है, दीपक ने यह भी दावा है कि भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत बोले- हमने नहीं रोका था रास्ता।

ट्वीट को 18,000 से अधिक बार लाइक किया गया है और इसे बाद में कई अन्य लोगों द्वारा पोस्ट किया गया।

फैक्ट चेकः

हमने Google पर कुछ की वर्ड खोजे तो हमारे सामने इस घटना पर समाचार रिपोर्टें आईं। हमने पाया कि सुप्रीम कोर्ट ने वास्तव में रास्तों को अवरुद्ध करने पर नाराजगी व्यक्त की थी। हालाँकि, कई समाचारों और स्वयं टिकैत के अनुसार, केवल एक टेंट को हटाया गया है, जबकि बाकी गाज़ीपुर बॉर्डर पर मौजूद हैं।

इसलिए, यह दावा भ्रामक है। हमने पहले भी दीपक चौरसिया द्वारा साझा की गई एक मॉर्फ्ड छवि पर फैक्ट चेक किया है, जिसे आप यहां पढ़ सकते हैं।