Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट चेक: क्या कोवैक्सिन को बच्चों के लिए सरकार ने मंजूरी दे दी है?

12 अक्टूबर 2021 को खबरें आने लगीं कि कोवैक्सिन को 2 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए सरकार से आपातकालीन स्वीकृति मिल गई है। यह सभी के लिए एक बहुत अच्छी खबर के रूप में आया, क्योंकि भारत में बच्चों को अभी तक COVID-19 का टीका नहीं लगाया जा रहा है।

यह खबर सभी न्यूज चैनलों और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जंगल में आग की तरह फैल गई। लोगों ने यह दावा करना शुरू कर दिया कि वैक्सीन को सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन द्वारा पूरी तरह से मंजूरी दे दी गई है, जैसे कि बच्चों को तुरंत टीका लगवाना है। कई भाजपा नेताओं और यहां तक कि ज़ी न्यूज़ ने भी ऐसा ही दावा किया है।

फैक्ट चेकः

हालांकि, इस मुद्दे पर रिसर्च करने के बाद हमें विभिन्न समाचार रिपोर्टें मिलीं, जो इस तथाकथित अनुमोदन को विस्तृत करती हैं। NDTV के अनुसार, एक विषय विशेषज्ञ समिति (SEC) वह थी, जिसने भारत बायोटेक द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों को देखा और उसे मंजूरी दी। अंतिम मंजूरी भारत के औषधि महानियंत्रक (DCGI) से आती है, जिन्होंने अभी तक वैक्सीन को मंजूरी नहीं दी है।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री डॉ भारती पवार द्वारा एक स्पष्टीकरण भी जारी किया गया था, जिन्होंने इस तथ्य पर जोर दिया कि अभी चर्चा और विचार-विमर्श हो रहा है।

इसलिए, यह दावा भ्रामक है।