Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट चेक: सोशल मीडिया पर एक बार फिर वायरल हुआ ‘जियो आटा’ की तस्वीर

सोशल मीडिया पर किसान आंदोलन को लेकर लोग अपने अपने राय व्यक्त कर रहे हैं। वहीं कई लोग 3 कृषि कानूनों को कॉरपोरेट द्वारा लिया गया फैसला बताते हैं। इसमें सबसे ज्यादा प्रमुखता से नाम अंबानी और अडानी का आता है। इसी कड़ी में सोशल मीडिया पर रिलायंस जियो के बोरे में भरे अनाज की तस्वीर वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि रिलायंस जियो किसानों का अनाज खरीद रही है।

जीशान वली नाम के एक यूजर ने लिखा- “स्वागत करिए अंबानी साहब के #JIO गेहूं का। बस आप इस तस्वीर को देखो और समझ जाओ की #कृषि_कानून क्या है और क्यों देश में कृषि कानून के वापसी का विरोध हो रहा है।” इस तरह के कैप्शन के साथ कई पोस्ट फेसबुक और ट्वीटर पर वायरल हो रहा है।

फैक्ट चेकः

गूगल पर तस्वीर को रिवर्स सर्च करने पर, हमें इंडिया टुडे द्वारा दिसंबर, 2020 में की गई तस्वीर की फैक्ट-चेक मिली। हमारे द्वारा की गई फैक्ट चेक और आगे की रिसर्च के अनुसार, यह तस्वीर पहली बार दिसंबर 2020 में उसी दावे के साथ वायरल हुई थी, जिसका आज इस्तेमाल किया जा रहा है।

इसलिए छवि निश्चित रूप से पुरानी है। इसके अतिरिक्त, इंडिया टुडे ने पाया कि कई स्थानीय कंपनियां हैं जो अपने ब्रांड मूल्य को बढ़ाने के लिए Jio नाम का उपयोग करती हैं। इसे इस तथ्य से प्रतिस्थापित किया जाता है कि Jio की वेबसाइट पर कुछ भी यह नहीं बताता है, कि उन्होंने अनाज और आटा बेचना शुरू कर दिया है।

चूंकि कई कंपनियां हैं जो अपने मूल्य को बढ़ाने के लिए Jio के नाम का उपयोग करती हैं और Jio अनाज बेचने के व्यवसाय में नहीं है। इसलिए यह दावा गलत है।