Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट चेकः क्या तालिबानी नेता मुल्ला बरादर मारा गया? जानें- सच्चाई

अफगानिस्तान से जुड़ी तमाम खबरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं, जिनमें आधी झूठी तो आधी सच्ची हैं। ऐसे में एक खबर तालिबानी नेता और डिप्टी पीएम अब्दुल गनी बरादर को लेकर वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि बरादर या तो कोरोना वायरस से, या फिर बम धमाके में मारा गया है। यह खबर मुख्य रुप से भारत और पाकिस्तान में जमकर वायरल हो रही है। इस खबर के साथ अलजजीरा का प्रतीक चिन्ह इस्तेमाल किया जा रहा है, जिससे यह साबित किया जा सके कि खबर सच्ची है।

एक उपयोगकर्ता द्वारा पोस्ट की गई छवि
पंजशीर ऑब्जर्वर द्वारा पोस्ट किया गया दावा

इसी तरह का दावा कई और हैंडल द्वारा पोस्ट किया गया था |

फैक्ट चेक :

चूंकि इस खबर को अलजजीरा के हवाले से बताया जा रहा है तो फिर इसकी सत्यता की जांच के लिए हमारी टीम ने अलजजीरा के वेबसाइट्स पर न्यूज की पड़ताल की। जिसमें सामने आया है कि अलजजीरा द्वारा ऐसी कोई न्यूज नहीं प्रकाशित की गई, जिससे यह साबित हो सके कि अब्दुल गनी बरादर की मौत हो गई है।

अल जज़ीरा की वेबसाइट या सोशल मीडिया हैंडल पर ऐसी कोई खबर नहीं है

वहीं खुद तालिबान द्वारा इस खबर का खंडन किया जा चुका है। मुल्ला बरादर ने खुद भी एक प्रेस नोट जारी करके इस खबर को अफवाह बताया है।

जिससे यह साबित होता है कि सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा झूठा और भ्रामक है।