Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट-चेक: गंभीर रूप से घायल व्यक्ति की तस्वीर हालिया किसान के विरोध की घटना की नहीं है

28 अगस्त,2021 को, किसानों का विरोध हिंसक हो गया, जब पुलिस ने एक प्रदर्शन कर रहे किसानों पर लाठीचार्ज किया। दरअस्ल करनाल में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर एक कार्यक्रम में शिरकत करने के लिये आए थे, कार्यक्रम स्थल के बाहर किसान आंदोलन करना चाहते थे। लेकिन इस दौरान किसानों पर लाठीचार्ज किया गया जिसमें कई किसान गंभीर रूप से घायल हो गए। घायल किसानों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट की गईं। इन तस्वीरों में तस्वीर ऐसी भी थी जिसमें एक शख्स के सर में टांके लगे हुए हैं।
कांग्रेस नेता इमरान प्रतापगढ़ी ने भी इस तस्वीर को हरियाणा में पुलिस और किसानों के बीच हुए संघर्ष की तस्वीर बताकर फेसबुक और ट्वीटर पर पोस्ट किया।

इमरान प्रतापगढ़ी का ट्वीट

कई अन्य खातों ने एक ही छवि पोस्ट की

इस तस्वीर में बुरी तरह घायल दिख रहे किसान को लेकर ज्यादातर यूज़र्स ने सत्ताधारी पार्टी की तीखी आलोचना और निंदा की। हालांकि इमरान प्रतापगढ़ी ने बाद में अपना वह ट्वीट हटा लिया, जिसमें उन्होंने इस तस्वीर को पोस्ट किया था।

फैक्ट चेक:

गूगल पर तस्वीर को रिवर्स सर्च करने पर, हमने पाया कि यह तस्वीर सबसे पहले 26 अगस्त को फेसबुक पर ‘गौरक्षक’ अकाउंट्स द्वारा पोस्ट की गई थी। इसमें दावा किया गया कि यह चोट तब लगी जब गोरक्षकों के एक समूह द्वारा एक गौतस्कर वाहन का पीछा करते समय दुर्घटना हो गई।

गौरक्षकों के इस इस दावे को विभिन्न समाचार पोर्टल्स द्वारा भी बल दिया गया, जिसमें बताया गया था कि 25 अगस्त को गौतस्कर वाहन का पीछा करने के दौरान 5 ‘गौ रक्षक’ कैसे घायल हो गए थे।

इसलिए इस तस्वीर को हरियाणा में किसानों पर हुए लाठीचार्ज की तस्वीर बताने का दावा झूठा है।