Digital Forensic, Research and Analytics Center

रविवार, नवम्बर 27, 2022
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
होमFact Checkफैक्ट चेकः राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का 5 साल पुराना बयान भ्रामक दावे...

फैक्ट चेकः राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का 5 साल पुराना बयान भ्रामक दावे के साथ वायरल

Published on

Subscribe us

सोशल मीडिया पर एक अखबार की कटिंग वायरल हो रही है। इस कटिंग में भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के बयान की एक खबर छपी है। वायरल न्यूज कटिंग को शीर्षक- “राष्ट्रपति ने पूछा- ओबीसी, एससी, एसटी और महिला जज इतने कम क्यों?” दिया गया है।

इस पोस्ट को शेयर करने वाले यूजर्स सवाल कर रहे हैं कि राष्ट्रपति 5 साल तक इन सब मामलों पर चुप क्यों थे। इस पोस्ट को शेयर करते हुए सौरव लोयत नाम के यूजर ने लिखा- “लो सुन लो ओबीसी, एससी, एसटी और महिलाओं  की अब  इनको याद आई, 5 साल तक क्या करते रहे? सिर्फ हाथ जोड़ते रहे!”

फैक्ट चेकः

वायरल हो रही इस न्यूज कटिंग की पड़ताल के लिए हमने गूगल पर शीर्षक के कुछ की-वर्ड्स को सर्च किया। इस दौरान हमें ‘दैनिक भास्कर’ की वेबसाइट पर प्रकाशित 5 साल पहले प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रपति ने 2017 में न्यायपालिका में एससी, एसटी, ओबीसी और महिला जजों को लेकर सवाल पूछा था।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट

वहीं वायरल हो रही न्यूज कटिंग हमें The Republic Press नामक फेसबुक पेज पर 26 नवंबर 2017 को पोस्ट किया गया मिला। इस पोस्ट के मुताबिक वायरल कटिंग दैनिक जागरण अखबार की है।

निष्कर्षः

हमारे फैक्ट चेक से साबित होता है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का बयान 2017 का है। इसलिए सोशल मीडिया यूजर्स द्वारा राष्ट्रपति के पुराने बयान को भ्रामक तरीके से वायरल किया जा रहा है।

दावा- राष्ट्रपति कोविंद ने OBC, SC,ST और महिला जजों की कमी पर उठाए सवाल

दावाकर्ता- सोशल मीडिया यूजर्स

फैक्ट चेक- भ्रामक

- Advertisement -[automatic_youtube_gallery type="channel" channel="UCY5tRnems_sRCwmqj_eyxpg" thumb_title="0" thumb_excerpt="0" player_description="0"]

Popular of this week

Latest articles

DFRAC एक्सक्लूसिव: पाकिस्तान स्ट्रेटजिक फोरम के भारत विरोधी नेक्ससकाभांडाफोड़

आज के इस अत्याधिक डिजिटल दौर में विभिन्न प्लेटफॉर्म्स के ज़रिए अपने नैरेटिव को...

Online Scan Alert: Qatar is not providing 50 GB free data- Read Fact Check 

A post shared on social media claiming that FIFA is providing free 50GB data...

फैक्ट चेक: सिख युवक की पिटाई का भ्रामक वीडियो वायरल

सोशल मीडिया पर एक वीडियो बड़े पैमाने सांप्रदायिक एंगल से वायरल हो रहा है।...

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों का पुराना वीडियो हो रहा वायरल? पढ़ें– फैक्ट चेक

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को थप्पड़ मारे जाने का एक वीडियो सोशल मीडिया...

all time popular

More like this

DFRAC एक्सक्लूसिव: पाकिस्तान स्ट्रेटजिक फोरम के भारत विरोधी नेक्ससकाभांडाफोड़

आज के इस अत्याधिक डिजिटल दौर में विभिन्न प्लेटफॉर्म्स के ज़रिए अपने नैरेटिव को...

Online Scan Alert: Qatar is not providing 50 GB free data- Read Fact Check 

A post shared on social media claiming that FIFA is providing free 50GB data...

फैक्ट चेक: सिख युवक की पिटाई का भ्रामक वीडियो वायरल

सोशल मीडिया पर एक वीडियो बड़े पैमाने सांप्रदायिक एंगल से वायरल हो रहा है।...

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों का पुराना वीडियो हो रहा वायरल? पढ़ें– फैक्ट चेक

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को थप्पड़ मारे जाने का एक वीडियो सोशल मीडिया...

क़तर स्टेडियम में पेप्सी-कोक में बीयर छिपाकर ले जा रहे दर्शक? पढ़ें- फैक्ट चेक 

फीफा वर्ल्ड कप का आयोजन इस बार क़तर में हो रहा है। क़तर में...

लव जिहाद में हिन्दू छात्रा की हत्या करने जा रहा था मुस्लिम युवक? पढ़ेः फैक्ट चेक 

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में...