Digital Forensic, Research and Analytics Center

गुरूवार, जुलाई 7, 2022
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
होमNewsभारत के एससीओ सेमिनार में आतंकवाद, अलगाववाद और अतिवाद से निपटने पर...

भारत के एससीओ सेमिनार में आतंकवाद, अलगाववाद और अतिवाद से निपटने पर हुई चर्चा

Published on

Subscribe us

भारत, एससीओ के क्षेत्रीय आतंकवाद विरोधी ढांचे के अध्यक्ष के रूप में, साइबर सुरक्षा पर संगोष्ठी आयोजित करता है। भारत ने 28 अक्टूबर, 2021 से एक वर्ष की अवधि के लिए एससीओ (आरएटीएस एससीओ) के क्षेत्रीय आतंकवाद विरोधी ढांचे की परिषद की अध्यक्षता ग्रहण की है।

शंघाई सहयोग संगठन (आरएटीएस एससीओ) के क्षेत्रीय आतंकवाद विरोधी ढांचे के अध्यक्ष के रूप में अपने पहले कार्यक्रम की मेजबानी करते हुए, भारत ने 7-8 दिसंबर को नई दिल्ली में साइबरस्पेस सुरक्षा पर दो दिवसीय व्यावहारिक संगोष्ठी का आयोजन किया।

विदेश मंत्रालय द्वारा हाल ही में जारी एक बयान में कहा गया है कि राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद सचिवालय (एनएससीएस) ने भारतीय डेटा सुरक्षा परिषद (डीएससीआई) के साथ मिलकर संगोष्ठी का आयोजन किया। भारत द्वारा अपनी अध्यक्षता के दौरान आयोजित की वाली यह अपनी तरह की पहला संगोष्ठी है।

इसी बयान में कहा गया है कि भारत ने 28 अक्टूबर, 2021 से एक वर्ष की अवधि के लिए एससीओ (आरएटीएस एससीओ) के क्षेत्रीय आतंकवाद-रोधी ढांचे की परिषद की अध्यक्षता ग्रहण की। इस संगोष्ठी में नीतियों और रणनीतियों, साइबर आतंकवाद, रैंसमवेयर और डिजिटल फोरेंसिक जैसे प्रमुख क्षेत्रों को संबोधित किया गया।

इस संगोष्ठी में रैट्स एससीओ की कार्यकारी समिति (ईसी) और सभी एससीओ सदस्य देशों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। इस कार्यक्रम में ऑनलाइन क्राइम और आपराधिक व्यवहार की बदलती प्रकृति पर ध्यान केंद्रित किया गया ताकि खतरों, प्रवृत्तियों, मुद्दों, प्रतिक्रियाओं और नैतिक प्रश्नों को समझने के लिए, मुख्य रूप से प्रौद्योगिकी का उपयोग करने वाले आतंकवादी, बयान का उल्लेख किया गया।

यह भारतीय पहल आतंकवादियों, अलगाववादियों और चरमपंथियों द्वारा इंटरनेट के दुरुपयोग का मुकाबला करने के लिए RATS SCO सदस्य राज्यों के बीच सहयोग बढ़ाने का एक प्रयास है। विदेश मंत्रालय के बयान के मुताबिक़ यह दूसरी बार है, जब भारत इस तरह की संगोष्ठी की मेजबानी कर रहा है। इससे पहले अगस्त 2019 में हैदराबाद ऐसी ही संगोष्ठी आयोजित की गयी थी। बयान में आगे कहा गया है कि COVID-19 महामारी के कारण 2020 में सेमिनार आयोजित नहीं किया जा सका।

Popular of this week

Latest articles

फैक्ट चेकः नासिक में सूफी मौलाना की हत्या के पीछे नहीं है सांप्रदायिक एंगल

महाराष्ट्र के नासिक में अफगान नागरिक सूफी मौलाना ख्वाजा सैयद जरीब चिश्ती की गोली मारकर...

फैक्ट चेकः WEF के संस्थापक क्लॉस श्वाब के पिता की फेक तस्वीर हिटलर का करीबी बताकर वायरल

इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर शेयर की जा रही है। इस तस्वीर में दो शख्स...

फैक्ट चेकः जस्टिस पारदीवाला और जस्टिस सूर्यकांत की फ़ेक तस्वीर भ्रामक दावे के साथ वायरल

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है। इस तस्वीर को शेयर करके...

यशवंत सिन्हा ने यह नहीं कहा है कि नूपुर शर्मा उनके राष्ट्रपति बनने के बाद गिरफ्तार होंगी- पढ़ें फैक्ट चेक

सोशल मीडिया साइट्स पर एक स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है जिसमें यशवंत की तस्वीर...

all time popular

More like this

फैक्ट चेकः नासिक में सूफी मौलाना की हत्या के पीछे नहीं है सांप्रदायिक एंगल

महाराष्ट्र के नासिक में अफगान नागरिक सूफी मौलाना ख्वाजा सैयद जरीब चिश्ती की गोली मारकर...

फैक्ट चेकः WEF के संस्थापक क्लॉस श्वाब के पिता की फेक तस्वीर हिटलर का करीबी बताकर वायरल

इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर शेयर की जा रही है। इस तस्वीर में दो शख्स...

फैक्ट चेकः जस्टिस पारदीवाला और जस्टिस सूर्यकांत की फ़ेक तस्वीर भ्रामक दावे के साथ वायरल

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है। इस तस्वीर को शेयर करके...

यशवंत सिन्हा ने यह नहीं कहा है कि नूपुर शर्मा उनके राष्ट्रपति बनने के बाद गिरफ्तार होंगी- पढ़ें फैक्ट चेक

सोशल मीडिया साइट्स पर एक स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है जिसमें यशवंत की तस्वीर...

MP के कटनी में मुस्लिम प्रत्याशी की जीत पर लगे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे? पढ़ें- फैक्ट चेक

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। वायरल हो रहे इस वीडियों...

नुपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद ट्विटर पर प्रायोजित ट्रेंड का एनालिसिस

पैगंबर मोहम्मद पर बीजेपी की निलंबित प्रवक्ता नुपूर शर्मा के विवादित बयान के बाद...