Digital Forensic, Research and Analytics Center

शुक्रवार, दिसम्बर 9, 2022
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
होमHashtag Scanner#MathuraNext & #SaveMathuraMasjid ट्रेंड में सांप्रदायिकता और नफरत का विश्लेषण

#MathuraNext & #SaveMathuraMasjid ट्रेंड में सांप्रदायिकता और नफरत का विश्लेषण

Published on

Subscribe us

सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के एक ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर बहस छिड़ गयी और ट्विटर पर #MathuraNext और #SaveMathuraMasjid का ट्रेंड देखने को मिला। पहले देखते हैं कि उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का ट्वीट क्या था।

केशव प्रसाद मौर्य का ट्वीट

दरअसल केपी मौर्य ने मथुरा में बनी शाही ईदगाह मस्जिद को लेकर टिप्पणी करते हुये कहा था कि अयोध्या मे राम मंदिर और काशी यानि बनारस मे भी मंदिर का निर्माण जारी है और अब इसी तरह मथुरा मे बने मस्जिद की जगह मंदिर बनाने की बारी है।

केपी मौर्य के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया जगत में धुर्वीकरण शुरू हो गया और कुछ यूजर उनके सपोर्ट में आए और #MathuraNext चलाने लगे तो वहीं बहुत सारे लोगो ने उनके विरोध में #SaveMathuraMasjid का ट्रेंड चलाया। यहाँ पर हम इसी ट्रेंड का विश्लेषण करेंगे। लेकिन पहले ये समझते हैं कि ये आखिर मुद्दा क्या है।

मथुरा शाही मस्जिद का मुद्दा क्या है?

हिन्दू ग्रंथों के मुताबिक मथुरा विष्णु के आठवें अवतार श्री कृष्ण का जन्मस्थान है। हिंदुओं के एक वर्ग का ये मानना है कि मथुरा की मौजूदा ईदगाह शाही मस्जिद की जगह पहले एक मंदिर था और ठीक उसी जगह हिंदुओं के भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ था। 17वीं सदी में औरंगजेब ने इस मंदिर को तुड़वाकर इसके एक हिस्से में मस्जिद का निर्माण करवा दिया था, जो कि आज भी मंदिर के ठीक बगल में ही मौजूद है। यही इस विवाद का मुख्य कारण भी है।

इसी तरह के क्लैम भारत मे और कई मस्जिदों के बारे मे भी हिंदुओं के एक वर्ग द्वारा किया जाते है। हालांकि साक्ष्य और प्रमाण के आधार पर ऐसा कहना मुश्किल होगा कि पहले यहाँ मंदिर था।

मस्जिद ट्रस्ट और कृष्ण जन्मस्थान सेवा संघ के बीच एक समझौता:

इस मामले में 12 अक्टूबर 1968 को शाही ईदगाह मस्जिद ट्रस्ट और श्री कृष्ण जन्मस्थान सेवा संघ के बीच एक समझौता हो चुका है। इस समझौते के बाद मस्जिद की कुछ जमीनें मंदिर के लिए खाली की गई थीं। इस दौरान मथुरा के सिविल जज की अदालत में एक और मामला दाखिल हुआ। लेकिन श्रीकृष्ण जन्म सेवा संस्थान और ट्रस्ट के बीच समझौते के आधार पर बंद कर दिया गया। 20 जुलाई 1973 को इस सबंध में अदालत का एक निर्णय आया था। फिर हमेशा के लिए  ये मान लिया गया था कि यह विवाद अब हमेशा के लिए सुलझा लिया गया है।

केंद्र बिन्दु

  • #MathuraNext  ट्रेंड में देखा गया कि शाही ईदगाह मस्जिद को गिराने से जुड़े ट्वीट की भरमार है। इन ट्वीट में कई भड़काऊ और उत्तेजक ट्वीट है। जो समुदाय विशेष को लक्षित करते है।
  • #MathuraNext ट्रेंड में बीजेपी नेताओं के भी बड़ी संख्या में ट्वीट देखे गए।
  • #SaveMathuraMasjid ट्रेंड में मस्जिद की रक्षा के लिए आगे आने और उत्तर प्रदेश सरकार से संवेधानिक दायित्व के पालन की अपेक्षा की गई।

#MATHURANEXT के अंतर्गत किए गए कुछ ट्वीट

 

रमेश चौधरी का ट्वीट

Jean François Charles का ट्वीट

 

 

 

 

तारानाथ पुजारी का ट्वीट

 

सनी सिंह ठाकुर का ट्वीट

 

 

 

भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के कुछ ट्वीट –

दिनेश चौधरी का ट्वीट

 

अवधेश सिंह के ट्वीट

नवीन कुमार का ट्वीट

ओपी मिश्रा का ट्वीट

 

#SaveMathuraMasjid के अंतर्गत किए कुछ ट्वीट – 

काशिम का ट्वीट

सलीम धोनी का ट्वीट

 

आदिल शेख का ट्वीट

अफ़रोज का ट्वीट

 

 

#SaveMathuraMasjid और #MathuraNext पर डेटा विश्लेषण

  1. टाईमलाइन

टाइमलाइन ग्राफ #SaveMathuraMasjid और #MathuraNext के दोनों हैशटैग पर किए गए ट्वीट और रिप्लाई की संख्या को दर्शाता है। यह ग्राफ़ 1 दिसंबर को 4,500 से अधिक ट्वीट्स और 2,700 रिप्लाई के साथ ट्वीट्स और रिप्लाई में चरम पर है।

इंटरएक्टिव ग्राफ लिंक

2. इस्तेमाल किए गए हैशटैग

इन हैशटैग के साथ कई और हैशटैग का इस्तेमाल किया गया जैसे #mathurachalo, #wakeupformathuramasjid, #मथुरा_को_भी_शुद्ध_करेंगे, आदि। #MathuraNext और #SaveMathuraMasjid का क्रमशः 7,300 और 5,800 से अधिक बार उपयोग किया गया।

इंटरएक्टिव ग्राफ लिंक

3. वर्ड क्लाउड:

नीचे वर्डक्लाउड है जो दिखाता है कि हैशटैग पर ट्वीट और रिप्लाई में किन शब्दों का सबसे अधिक बार उपयोग किया गया था।

4. उल्लेखित (मेंशन) अकाउंट:

नीचे दिए गए ग्राफ़ से पता चलता है कि किन अकाउंट का सबसे अधिक बार उल्लेख किया गया था। प्रदीप भंडारी (प्रदीप 103) का सबसे अधिक बार जिक्र किया गया क्योंकि लोग हैशटैग के समर्थन में उनकी प्रशंसा कर रहे थे। उनका 370 से अधिक बार उल्लेख किया गया, उसके बाद योगी आदित्यनाथ (myogiadityanath) का 100 से अधिक बार उल्लेख हुआ।

इंटरएक्टिव ग्राफ लिंक
  1. जिन खातों से सबसे अधिक ट्वीट/ रिप्लाई दिए गए:

नीचे दिया गया ग्राफ़ दिखाता है कि किसी उपयोगकर्ता ने हैशटैग पर कितनी बार ट्वीट या जवाब दिया है। pavankumaar_ ने सबसे अधिक बार ट्वीट / उत्तर दिया है, उसके बाद ek_ldaki और ambikeshbjp हैं।

इंटरएक्टिव ग्राफ लिंक
  1. वेरिफ़ाईड अकाउंट

नीचे दिया गया ग्राफ़ उन सत्यापित (वेरिफ़ाईड) खातों को दिखाता है जिन्होंने दो हैशटैग पर सबसे अधिक ट्वीट/रिप्लाई दिया। जानकीबात1 ने 25 से अधिक ट्वीट के साथ सबसे अधिक बार ट्वीट किया, उसके बाद ज़ी_हिन्दुस्तान और दिनेशबीजेपी09 ने क्रमशः 14 और 8 ट्वीट किए।

- Advertisement -[automatic_youtube_gallery type="channel" channel="UCY5tRnems_sRCwmqj_eyxpg" thumb_title="0" thumb_excerpt="0" player_description="0"]
Dilshad Noor
Dilshad Noor
Mr. Dilshad Noor is a research fellow at DFRAC with experience of 8 years in the field of journalism He has done his bachelor's in journalism from VMOU, Kota. He has done MA and LLB from the University of Kota. He specializes in report making and research analysis.

Popular of this week

Latest articles

पीएम नरेंद्र मोदी और उनकी पत्नी जशोदाबेन की एडिटेड तस्वीर हुई वायरल! पढ़ें- फैक्ट चेक

गुजरात में विधानसभा चुनाव पांच दिसंबर को समाप्त हो गए थे। ऐसे में पीएम...

फ़ैक्ट चेक: गुजरात चुनाव के पहले चरण में AAP को 49-54 सीटें  मिलने के  दावे के साथ एग्ज़िट पोल का फ़ेक स्क्रीनशॉट वायरल

सोशल मीडिया यूज़र्स द्वारा दावा किया जा रहा है कि एक न्यूज़ चैनल द्वारा...

फैक्ट चेक: आंध्रप्रदेश सरकार ने नहीं लगाया मेडिकल कॉलेज में जींस-टीशर्ट पहनने पर बैन, मीडिया में चल रही फेक न्यूज़

तेलुगू मीडिया में एक न्यूज़ बड़े पैमाने पर चल रही है। जिसमे दावा किया...

विशेष रिपोर्ट- “लव जिहाद” प्रोपेगेंडा की हक़ीकत और इसके पीछे का एजेंडा  

27 वर्षीय श्रद्धा वॉकर की उसके पार्टनर आफताब पूनावाला द्वारा की गई क्रूर हत्या...

all time popular

More like this

पीएम नरेंद्र मोदी और उनकी पत्नी जशोदाबेन की एडिटेड तस्वीर हुई वायरल! पढ़ें- फैक्ट चेक

गुजरात में विधानसभा चुनाव पांच दिसंबर को समाप्त हो गए थे। ऐसे में पीएम...

फ़ैक्ट चेक: गुजरात चुनाव के पहले चरण में AAP को 49-54 सीटें  मिलने के  दावे के साथ एग्ज़िट पोल का फ़ेक स्क्रीनशॉट वायरल

सोशल मीडिया यूज़र्स द्वारा दावा किया जा रहा है कि एक न्यूज़ चैनल द्वारा...

फैक्ट चेक: आंध्रप्रदेश सरकार ने नहीं लगाया मेडिकल कॉलेज में जींस-टीशर्ट पहनने पर बैन, मीडिया में चल रही फेक न्यूज़

तेलुगू मीडिया में एक न्यूज़ बड़े पैमाने पर चल रही है। जिसमे दावा किया...

विशेष रिपोर्ट- “लव जिहाद” प्रोपेगेंडा की हक़ीकत और इसके पीछे का एजेंडा  

27 वर्षीय श्रद्धा वॉकर की उसके पार्टनर आफताब पूनावाला द्वारा की गई क्रूर हत्या...

MCD में 8 लाख रोहिंग्या-बाग्लादेशी घुसपैठियों ने बीजेपी को चुनाव हराया? पढ़ें- फैक्ट चेक

दिल्ली नगर निगम चुनावों का परिणाम आ गया है। इस चुनाव में आम आदमी...

 क्या सुप्रिया श्रीनेत ने राहुल गांधी को ढोंगी हिंदू कहा? पढ़िए- फैक्ट चेक 

एक वीडियो सोशल मीडिया साइटों पर वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा...