Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

सीजे वर्लमैन कौन हैं?

सीजे वर्लमैन(CJ Werleman) खुद को Byline Times का वैश्विक संवाददाता बताते हैं। वह दावा करते हैं कि वह अरब मामलों के जानकार और इस्लामोफोबिया के खिलाफ काम करने वाले एक बुद्धीजीवी हैं। लेकिन क्या वह वास्तव में पत्रकार, लेखक या विचारक हैं या वह सोशल मीडिया अकाउंट का इस्तेमाल आतंकवादियों या फिर अल्पसंख्यकों के लिए आवाज उठाने लिए कर रहे हैं?

आइए कुछ संदर्भों पर एक नजर डालते हैं!

CJ Werleman के बारे में अन्य पत्रकारों और सोशल मीडिया के जानकारों की क्या राय है?

  1. सीजे वर्लमैन को लेबनानी-अमेरिकी लेखिका रानिया खालेक एक प्रोपेगैंडिस्ट और सलफी विचारधारा समर्थक जिहादी कहती हैं।

  1. सीजे वर्लमैन को पत्रकार बेंजामिन नॉर्टन प्रोपेगैंडिस्ट कहते हैं। बेंजामिन कहते हैं कि वार्लमैन ने सीरियाई अल-कायदा के गुर्गों को एक मंच प्रदान किया है।


3.हसन सजवानी एक सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर हैं। उन्होंने सीजे वर्लमैन को एक सीरियल इस्लामिस्ट और बेशर्म सीरियाई अल-कायदा और मुस्लिम ब्रदरहुड का समर्थक कहा है।

CJ Werleman की पृष्ठभूमि की जाँच!

  1. CJ Werleman को उनके झूठ और साहित्यिक चोरी के लिए जाना जाता है। इसलिए उन्हें कई नौकरियों से निकाल दिया गया है और उनके कार्यों को खराब पत्रकारिता के कृत्यों के रूप में पहचाना जा रहा है। वह कभी अल्टरनेट और सलोन के लेखक थे। अल्टरनेट ने उनके लेखों को हटा दिया है। हालांकि सलोन ने उनके लेखों को ऐसे ही रखा हुआ है। अपने कृत्यों के लिए कई बार वर्लमैन को अपमानित होना पड़ा लेकिन उन्होंने अपने कृत्यों के लिए कभी माफी भी नहीं मांगी है। “खराब संपादन”, सांकेतिक चिह्नों का गलत उपयोग, साहित्यिक चोरी के आरोप उनपर लगते रहे हैं।
AlterNet regrets CJ Werleman’s Plagiarism
  1. सीजे वर्लमैन को उसके ही शब्दों में समझे तो वह एक शातिर नस्लवादी और इस्लामोफोबिक व्यक्ति थे। सोशल मीडिया पर उसके द्वारा पोस्ट किए कुछ पोस्ट भी इसी तरफ इशारा करते हैं।
Islamophobic Content posted by CJ Werleman

लोग उन्हें सीरियाई अल-कायदा और मुस्लिम ब्रदरहुड का समर्थक क्यों कहते हैं?

क्या उसका वास्तव में आतंकवादी से कोई संबंध है?

  1. CJ Werleman ने आतंकियों के प्रवक्ता अबू सुलेमान अल-मुहाजिर से बात की है, जैसा कि उन्होंने स्वीकार किया है। उन्होंने कहा, “अबू सुलेमान ने मुझे सीरियाई गृहयुद्ध की मेरी “निष्पक्ष” रिपोर्टिंग के रूप में वर्णित करने के लिए धन्यवाद देने के लिए मुझसे संपर्क किया था।
Article in Saturday Paper ; Credits: Hassan Sajwani

अबू सुलेमान कौन है?

मुस्तफा महमेद (जन्म 14 फरवरी 1984, पोर्ट सईद, मिस्र), जिसे शेख अबू सुलेमान अल-मुहाजिर (या मुस्तफा फरग) के नाम से जाना जाता है, वह मिस्र में पैदा होने वाला ऑस्ट्रेलियाई मुस्लिम है। जो अल-कायदा के अल नुसरा फ्रंट का वरिष्ठ सदस्य है। वह सिडनी के दक्षिणी उपनगर का रहने वाला व्यक्ति है, जो अब सीरिया में रह रहा है। उसे अल-कायदा का सर्वोच्च रैंकिंग वाला ऑस्ट्रेलियाई सदस्य माना जाता है।

  1. सीजे वर्लमैन आतंकियों को सोशल मीडिया में जगह देते नजर आए

ट्वीट 1: सीजे वर्लमैन ब्रिटेन के कुख्यात आतंकवादी तौकीर टोक्स शरीफ़ का महिमामंडन करते हुए दिखाई देता है। हालांकि शरीफ ने सीरिया में किसी भी सशस्त्र समूह के साथ संबद्धता से इनकार किया है, लेकिन 2017 में यूके के गृह कार्यालय द्वारा “अल-कायदा-गठबंधन समूह के साथ गठबंधन” होने का आकलन करने के बाद, उनकी ब्रिटिश नागरिकता छीन ली थी।

CJ Werleman calling Touqir as his friend

ट्वीट 2: बिलाल अब्दुल करीम को मंच दे रहे सीजे वेरलेमैन, जिनकी सीरिया में जिहादी लड़ाकों के साथ कथित गठजोड़ के लिए कुछ सामरिक विशेषज्ञों द्वारा आलोचना की गई है। द न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक करीम को “जिहादी प्रोपेगैंडिस्ट” माना जाता है।

CJ Werleman giving platform to Bilal Abdul Kareem

क्या सीजे वर्लमैन, फेक समाचार फैलाते हैं?

CJ Werleman द्वारा किए गए कुछ ट्वीट्स की हमने पड़ताल की

ट्वीट 1:

CJ Werleman ने 1 सितंबर, 2021 को इस दावे के साथ एक वीडियो पोस्ट किया है कि दक्षिणपंथी हिंदुओं ने भारत के नाथन में एक मुस्लिम कब्रिस्तान को तबाह कर दिया

Tweet 1
फैक्ट चेकः

सीजे वर्लमैन द्वारा किया गया दावा पूरी तरह से गलत लगता है, क्योंकि घटना नाथन की नहीं है जैसा कि उनके द्वारा दावा किया गया था। कुल्लू पुलिस के मुताबिक ये वीडियो नाथन का नहीं है और उस इलाके में ऐसी कोई घटना नहीं हुई है।

वीडियो वास्तव में हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के मुख्यालय नाहन का है, और इसमें ‘हिंदुत्व कट्टरपंथियों’ द्वारा नष्ट किए गए मुस्लिम कब्रिस्तान को नहीं दिखाया गया है, जैसा कि वर्लमैन ने दावा किया है।

नगर परिषद ने हिंदू जागरण मंच के सदस्यों के सहयोग से अवैध मजार को ध्वस्त कर दिया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि कुछ अज्ञात लोगों ने नाहन में डॉ वाई एस परमार मेडिकल कॉलेज के पास सरकारी जमीन पर अवैध मजार स्थापित किया था। साथ ही हिंदू जागरण मंच के प्रदेश सचिव मनब शर्मा ने बताया कि रात में कुछ अज्ञात लोगों ने अवैध मजार बनाने के लिए निर्माण सामग्री इकट्ठी की थी. इसके बारे में अधिकारियों को सूचित करने के बाद, प्रशासन और पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में अवैध निर्माण को हटा दिया गया।

Video uploaded on Facebook page of Punjab Kesari/Himachal

ट्वीट 2:

CJ Werleman ने एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें दावा किया गया है कि 25 मार्च को औरंगाबाद में हिंदू कट्टरपंथियों ने 25 मुस्लिमों के दुकानों और उनकी संपत्ति को नष्ट कर दिया।

Tweet 2
फैक्ट चेक:

उन्होंने जो वीडियो पोस्ट किया वह जनवरी 2018 में महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव का है। यह वीडियो हिंदू-मुस्लिम दंगों से भी संबंधित नहीं है।

India Today Article with the same footage as is uploaded by CJ Werleman
ट्वीट 3:

ट्वीट 3:

CJ Werleman ने कुछ तस्वीरें इस दावे के साथ पोस्ट कीं कि हजारों नव-नाज़ियों ने मुसलमानों, यहूदियों और नारीवादियों के विरोध करते हुए पोलैंड के वारसॉ में सड़कों पर उतर आए।

Tweet 3
फैक्ट चेक:

CJ Werleman द्वारा अपलोड की गई तस्वीरें पोलैंड में मुसलमानों, यहूदियों और नारीवादियों के खिलाफ किसी विरोध की नहीं हैं। ये तस्वीरें पोलैंड के स्वतंत्रता दिवस समारोह का जश्न मनाते हुए लोगों की हैं।

ट्वीट 4 :

CJ Werleman ने 6 जून, 2020 को इस दावे के साथ एक वीडियो अपलोड किया कि राजस्थान का एक पुलिस वाला मास्क न पहनने पर एक मुस्लिम व्यक्ति की बेरहमी से पिटाई करता है। उन्होंने इसे मुसलमानों के खिलाफ भारतीय पुलिस की बर्बरता का दावा करते हुए इसे हिंदू-मुस्लिम एंगल देने की भी कोशिश की।

Tweet 4
फैक्ट चेक:

4 जून 2020 को देवनगर थाना अंतर्गत चौपासनी हाउसिंग बोर्ड के पास बिना मास्क के घूमने पर चालान काटने को लेकर एक व्यक्ति की पुलिस से नोकझोंक हो गई। जिसके बाद युवक पुलिसवालों से मारपीट करने लगता है। उसने पुलिसवालों की वर्दी भी फाड़ दी।  देवनगर थाना पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। एसएचओ सोमकरण के अनुसार प्रतापनगर थाने के सिपाही हनुमान गोदारा और राजू मीणा 12 बजे सोमानी कॉलेज की गली में कोरोना महामारी अधिनियम के तहत गश्त कर रहे थे। इसी बीच बस स्टैंड पर मुकेश कुमार प्रजापति बिना मास्क के बैठे मिला, तो पुलिसवालों ने उन्हें पकड़कर चालान की कार्रवाई की सूचना देवनगर थाने को दी।

जिस व्यक्ति की प्राथमिकी दर्ज की गई उसका नाम मुकेश कुमार प्रजापति है, और वह मुस्लिम नहीं है

क्या भारत विरोधी हैं सीजे वर्लमैन?

  1. भारतीय उत्पाद के बहिष्कार के बारे में ट्वीट

CJ Werleman ने 23 नवंबर, 2021 को ट्वीट किया कि कश्मीर में मुसलमानों को बचाने के लिए भारतीय उत्पादों का बहिष्कार करना चाहिए।|

भारतीय उत्पादों का बहिष्कार करना कश्मीर में मुसलमानों को बचाने में कैसे मददगार हो सकता है?
Tweet of CJ Werleman to Boycott Indian Products
  1. आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप पर ट्वीट:

इस ट्वीट में सीजे वार्लमैन चाहते हैं कि भारत आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप में हारे, क्योंकि वह चाहते हैं कि 50 करोड़ हिंदुत्ववादी खुश रहें। उन्होंने धर्म के साथ मिश्रित खेल किया है।

क्या धर्म का खेल से कोई संबंध है?

Tweet by CJ Werleman related to ICC Test Championship

क्या सीजे वार्लमैन एक ऐसे कार्यकर्ता हैं, जो आमलोगों की आवाज उठाते हैं?

  1. CJ Werleman एक youtube चैनल “The CJ Werleman Show: A Voice for the Voiceless” रखता है, जहां वह हर हफ्ते चीन, भारत, फिलिस्तीन आदि के अल्पसंख्यकों पर अत्याचारों पर प्रकाश डालते हुए एक वीडियो पोस्ट करता है
CJ Werleman Show YouTube channel
  1. अल्पसंख्यकों पर अत्याचार दिखाने के लिए उनके द्वारा ट्विटर अकाउंट का इस्तेमाल किया जा रहा है।

सोशल मीडिया अकाउंट जब वास्तविक डाटा का उपयोग करके किसी भी धर्म, संप्रदाय के अल्पसंख्यकों पर अत्याचार को उजागर करने के लिए उपयोग किया जाता है, तो यह सोशल मीडिया की सार्थकता होती है। लेकिन जब इसका उपयोग गैर-सत्यापित और फेक डाटा के आधार पर प्रोपेगैंडा फैलाने के लिए किया जाता है, तो सोशल मीडिया केवल प्रोपेगैंडा और नफरत का स्थान बन जाता है।

CJ Werleman के अकाउंट से शेयर की गई कुछ फर्जी खबरों को ऊपर सूचीबद्ध किया गया है और एक उदाहरण नीचे दिखाया गया है।

CJ Werleman ने उइगरों के लिए एक कथित चीनी “एकाग्रता शिविर” के एक नकली वीडियो के साथ अपने ट्वीट को हटा दिया, जो वास्तव में एक कारखाने में सिर्फ चीनी महिलाएं थीं।

उनके अकाउंट से बेतुका दुष्प्रचार यहां संग्रहीत किया गया है: https://archive.fo/bX8fX

Fake content posted by CJ Werleman Account, Credits: Benjamin Norton

इस तरह की असत्यापित सामग्री को साझा करना एक बहुत ही असंवेदनशील मामला है, क्योंकि यह विभिन्न समुदायों के बीच हिंसा और घृणा को भड़का सकती है।

यहां सीजे वार्लमैन के बारे में आपको जानकारी दी गई है। अब आपको यह तय करना होगा कि आप सीजे वार्लमैन को क्या समझते हैं। आप उन्हें पत्रकार, प्रोपेगैंडिस, समाज सुधारक, बुद्धिजीवी या लेखक में क्या मानते हैं, ये आपको तय करना होगा।