Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फेक्ट चेक: कराची में CNG पंप पर हुए ब्लास्ट के वीडियो को त्रिपुरा हिंसा से जोड़कर किया जा रहा वायरल

पाकिस्तान के कराची में एक CNG पंप पर हुए ब्लास्ट का एक विचलित करने वाला वीडियो सोशल मीडिया पर इस झूठे दावे के साथ प्रसारित किया रहा है कि यह त्रिपुरा हिंसा का है। वीडियो में कई लोगों को गंभीर रूप से घायल अवस्था में देखा जा सकता है।

‘Ch Aabid Hussain’ ने इस वीडियो को ट्विटर पर पोस्ट किया है। जिसमे उन्होने लिखा है, ”पुलिस डिपार्टमेंट हमारे देश का एक ऐसा डिपार्टमेंट है जो हमेशा अपने इंसाफ के लिए जाना जाता है जो ज़ालिमों को सज़ा और मज़लूमों को इंसाफ दिलाता है, लेकिन #त्रिपुरा पुलिस की वाहियात हरकतें पूरे देश के पुलिस डिपार्टमेंट के लिए शर्म की बात है।ShameOnTripuraPolice”

ट्वीट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें।

फेक्ट चेक

वीडियो के की-फ्रेम में से एक को गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमारी टीम ने पाया कि यह वीडियो 30 अक्टूबर 2021 को ‘Dark Knight’ नामक ट्विटर यूजर ने पोस्ट किया था। जिसके साथ केप्शन दिया हुआ है कि ”बोर्ड कार्यालय के पास बाइको सीएनजी/पेट्रोल स्टेशन विस्फोट में कीमती जान चली गई। बहुत दुखद और भयावह, मैं दो बार पहले वहां गया था। सभी सीएनजी/पेट्रोल पंपों पर सुरक्षा प्रोटोकॉल होना चाहिए। गैर तकनीकी पीपीएल इन बम स्टेशनों की निगरानी कर रहे हैं #कराची”

ट्वीट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें।

इसके अलावा कीवर्ड सर्च करने पर हमने पाया कि पाकिस्तानी न्यूज चैनल ‘92 News HD Plus, आज न्यूज और जियो टीवी ‘ के समाचार बुलेटिन में वायरल क्लिप के एक हिस्से को चलाया गया है। साथ ही घटना की भी जानकारी दी गई। वहीं 30 अक्टूबर, 2021 को प्रकाशित द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट में घटना के बारे में बताया गया कि “कराची के नज़ीमाबाद इलाके में एक ईंधन स्टेशन में ‘शॉर्ट सर्किटिंग से ट्रिगर’ विस्फोट में शुक्रवार को कम से कम चार लोगों की मौत हो गई और दो महिलाओं सहित छह घायल हो गए। विस्फोट के परिणामस्वरूप तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक अन्य ने अस्पताल ले जाते समय अपनी जान गंवा दी। छह घायलों का इलाज चल रहा है।”

निष्कर्ष:

अत: त्रिपुरा हिंसा के साथ जोड़कर वायरल किया जा रहा ये वीडियो भ्रामक है।