Skip to content Skip to sidebar Skip to footer
Sunday, January 23rd, 2022

फैक्ट चेक: क्या वाकई वरुण गांधी ने ट्विटर पर अपने बायो से बीजेपी हटाया है?

सोशल मीडिया पर इस खबर की बाढ़ आ गई है कि भारतीय संसद सदस्य और भारतीय जनता पार्टी के के नेता वरुण गांधी ने लखीमपुर खीरी हत्याकांड के बाद अपने ट्विटर अकाउंट से बीजेपी हटा दिया है। यह खबर तब वायरल हुई जब भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा घोषित भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सूची से वरुण गांधी और उनकी मां मेनका गांधी का नाम शामिल नहीं किया गया था।

ऐसा दावा करने वाले कुछ हैंडल हैं: एक कैरिकेचर आर्टिस्ट अल्फाटूनिस्ट जिसके 18.1K फॉलोअर्स हैं, 409K सब्सक्राइबर्स के साथ न्यूज ऑफ इंडिया YouTube अकाउंट, 65.7K फॉलोअर्स के साथ संबाद इंग्लिश, News18 ने भी इस कहानी को रिपोर्ट किया है।

फैक्ट चेक

यह जांचने के लिए कि वरुण गांधी का ट्विटर बायो बदला गया है या नहीं, हमने वेबैक मशीन का इस्तेमाल किया और 5 सितंबर, 2021 को उनकी प्रोफाइल का एक स्नैपशॉट हासिल किया।

5 सितंबर, 2021 के बायो का मिलान 7 अक्टूबर, 2021 के वरुण गांधी के बायो से करने पर साफ हो गया कि वरुण गांधी ने पहले अपने डिस्क्रिप्शन में बीजेपी शब्द का इस्तेमाल तक नहीं किया था। इसलिए 3 अक्टूबर को हुए लखीमपुर खीरी हत्याकांड के बाद इसे हटाने का कोई मतलब नहीं है।

सितंबर5,2021 को वरुण गांधी प्रोफाइल
7 अक्टूबर, 2021 वरुण गांधी प्रोफाइल

इसलिए वरुण गांधी ने ट्विटर पर अपने बायो में बीजेपी लिखा ही नहीं था, तो इसे हटाने का सवाल ही नहीं, इसलिए जो दावा वायरल है वह फर्जी है।