Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट-चेक: क्या अमेरिकी किसानों ने पीएम मोदी का विरोध किया था?

29 सितंबर 2021 को ट्विटर पर कुछ यूजर्स ने एक वीडियो पोस्ट करना शुरू कर दिया। वीडियो में दिख रहा है कि लोगों का एक समूह कई कारों के एक काफिले के पीछे दौड़ रहा है। यूजर्स ने दावा किया कि यह पीएम मोदी का काफिला था और भारत में किसानों के विरोध का समर्थन करने वाले अमेरिकी प्रदर्शनकारियों द्वारा उनका पीछा किया जा रहा था। उन्होंने दावा किया कि यह इतिहास में पहली बार था जब किसी भारतीय प्रधान मंत्री को अमेरिकी नागरिकों द्वारा खदेड़ा गया था।

एक यूजर ने लिखा- “अमेरिकी इतिहास में कभी भी भारतीय प्रधानमंत्री को पब्लिक ने दौड़ा-दौड़ा कर नहीं भगाया था। अमेरिकी फौज मोदी को लेकर उल्टे पांव भागी। अमेरिकी किसान एकता जिंदाबाद। मोदी की अमेरिका में किसानों के आगे भागने की बेइज्जती जरूर देखें।”

फैक्ट चेकः

हमने कुछ कीवर्ड के साथ इस वीडियो के मुख्य फ़्रेमों को रिवर्स सर्च किया। जहां हमें यह जानकारी मिली कि यह वास्तव में ऑस्ट्रेलिया में हो रहे लॉकडाउन के विरोध में किया गया प्रदर्शन था। हमने पाया कि यह वीडियो मेलबर्न में 21 सितंबर 2021 को लिया गया था, जब ये विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गए थे।

फैक्ट चेक में सामने आया कि वीडियो में दिख रहे पुलिस वाहन और नारंगी जैकेट विरोध ऑस्ट्रेलिया में हुए विरोध प्रदर्शन के अन्य वीडियो और समाचार कवरेज से मेल खाता है। चूंकि वीडियो ऑस्ट्रेलिया का है और यह किसी भी तरह से पीएम मोदी की हाल की अमेरिका यात्रा से जुड़ा नहीं है, इसलिए यह दावा झूठा और भ्रामक है।