Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

पीएम मोदी के खिलाफ कांग्रेस के टि्वटर अभियान में पाकिस्तान का हाथ?

कांग्रेस द्वारा 25 अगस्त 2021 को केंद्र की बीजेपी सरकार की आर्थिक नीतियों के खिलाफ ट्वीटर पर माहौल बनाया गया। कांग्रेस से जुड़े लोगों द्वारा #IndiaOnSale, #dalalpm और #Stopsellingindia हैशटैग के साथ ट्विटर पर ट्रेंड चलाया गया। लेकिन इन हैशटैग पर पाकिस्तान से संचालित कई ट्वीटर अकाउंट द्वारा घुसपैठ की गई, वहां से भी इस एजेंडे को आगे बढ़ाया गया।

दरअसल भारत की केंद्र सरकार ने आर्थिक स्थिति को मजबूत करने और अपने बजट घाटे को भरने में मदद करने के लिए अगले चार वर्षों में राज्य के स्वामित्व वाली सरकारी संपत्तियों बेचकर 6 ट्रिलियन रुपये ($ 81 बिलियन) जुटाने की योजना बनाई है। इस योजना के तहत सड़क और रेलवे संपत्ति, हवाई अड्डों, बिजली लाइनों और गैस पाइपलाइनों की बिक्री शामिल है। सरकार ने COVID-19 महामारी के कारण राजस्व में हुए भारी नुकसान की भरपाई के लिए 2022 तक बिक्री से करीब 1.75 ट्रिलियन रुपये का बजट रखा है।

सरकार के इस कदम से नागरिकों में एक राष्ट्रव्यापी प्रतिक्रिया देखने को मिली। जिन्होंने सार्वजनिक सुविधाओं के प्रमुख क्षेत्रों के निजीकरण के लिए केंद्र सरकार की आवश्यकता पर सवाल उठाया था। जिसके बाद इन तीनों हैशटैग के साथ लोग ट्विटर पर अपना विरोध प्रदर्शन कर रहे थे, जिसके बाद ये हैशटैग नंबर 1 पर ट्रेंड कर रहे थे। इनमें #IndiaOnSale पहले उसके बाद #dalalpm और #Stopsellingindia ट्रेंड कर रहे थे।

इन तीनों हैशटैग का इस्तेमाल सोशल मीडिया यूजर्स द्वारा अपना गुस्सा जाहिर करने के लिए किया गया था और यहां हम उसी ट्विटर ट्रेंड का विश्लेषण कर रहे हैं।

विश्लेषण के केंद्र बिंदु:

• हैशटैग में कुल पाकिस्तानी हैंडल: 793

#IndiaOnSale & #dalalpm में ट्वीट्स की कुल संख्या: 38,800 बार

• टैग किए गए शीर्ष हैंडल राहुल गांधी, नरेंद्र मोदी और INC India थे

• हैशटैग के साथ जुड़ने वाले अत्यधिक फॉलोवर्स वाले खाते: राहुल गांधी, INCIndia और तेजस्वी यादव हैं।

डाटा विश्लेषणः

  1. ट्वीट्स टाइमलाइन: IndiaOnSale& #dalalpm हैशटैग के साथ 25 अगस्त 2021 को लगभग 20 हजार ट्वीट्स के साथ उच्चतम स्तर पर पहुंच गए।
  1. ट्वीट्स का वर्ल्डक्लाउड: जैसा कि हमारे द्वारा किए गए पिछले हैशटैग विश्लेषण में देखा गया था कि ट्रेंडिंग हैशटैग अपने ट्वीट्स में एक समान शब्दों का उपयोग किया जाता है, जो ट्वीट्स के एक होने का संकेत है। ये है #IndiaOnSale और #dalalpm हैशटैग का हिंदी में वर्डक्लाउड है।

यहां पर वह वर्डक्लाउड है, जिसे अंग्रेजी में किया गया था।

  1. शीर्ष अकाउंट जिन्होंने दो हैशटैग का अधिकतम बार उपयोग किया : अक्सर हैशटैग को ट्रेंड में लाने के लिए, कुछ अकाउंट हैशटैग को सैकड़ों बार रीट्वीट करते हैं, सबसे अधिक बार ट्वीट करने वाले शीर्ष अकाउंट vermadaksha2000, tasilommat और arungan43282191 के अलावा अन्य यूजर्स हैं। इन अकाउंट्स ने एक दिन के दौरान हैशटैग को 300 बार से ऊपर ट्वीट किया।
  1. ट्वीट में जिन ट्विटर हैंडल का जिक्र किया गया था:
    जिन शीर्ष खातों का उल्लेख किया गया, वे क्रमशः rahulgandhi, narendramodi and incindia थे, जिनको क्रमशः 994, 505 और 319 टैग किया गया था।
  1. ट्वीट में इस्तेमाल किए गए हैशटैग:
    शीर्ष हैशटैग हमें ट्वीट्स के भीतर प्रदर्शित भावनाओं के बारे में एक लिंक भी देते हैं। ट्रेंड में उपयोग किए जाने वाले शीर्ष हैशटैग #Indiaonsale, #dalalpm और #Stopsellingindia थे। #Indiaonsale को 32.3 हजार बार, #dalalpm को 5.2 हजार बार और #Stopsellingindia को 1.3 हजार बार इस्तेमाल किया गया।
  1. शीर्ष वेरीफाइड अकाउंट का बबल प्लॉट:
    इन हैशटैग के साथ जुड़ने वाले शीर्ष वेरीफाइड ट्वीटर अकाउंट राहुल गांधी, INCIndia और yadavtejhasvi थे, जिनके ट्विटर पर 19.5M, 8.48M और 3.51M फॉलोअर्स हैं।


पाकिस्तानी खातों से घुसपैठ:

हमारी खोज में सबसे चौंकाने वाला तथ्य यह था कि इस हैशटैग को कई पाकिस्तानी अकाउंट द्वारा ट्वीट किए गए। इन ट्वीट्स ने हैशटैग में किए गए ट्वीट्स की कुल संख्या में एक महत्वपूर्ण मात्रा जोड़ दी। इन पाकिस्तानी अकाउंट्स द्वारा पोस्ट किए गए ट्वीट्स के कुछ उदाहरण नीचे दिए गए हैं:

सबसे अधिक ट्वीट करने वाले पाकिस्तानी अकाउंट

हैशटैग का सबसे ज्यादा इस्तेमाल ayazahmad38 ने किया, जिन्होंने हैशटैग को 35 बार ट्वीट किया।

• सबसे अधिक रीट्वीट करने वाले पाकिस्तानी अकाउंट

हैशटैग को NaziaShakeel12 ने सबसे ज्यादा रीट्वीट किया, जिन्होंने हैशटैग को 20 बार रीट्वीट किया। नीचे संलग्न ग्राफ़ पाकिस्तानी अकाउंट द्वारा किए गए रीट्वीट की संख्या को दर्शाता है।

• इस हैशटैग के साथ ट्वीट करने वाले पाकिस्तानी अकाउंट ansaarmy, AmbreenPTI1 और UmarHayatBajwa के के ट्विटर पर 146.42k, 100.82k और 100.07k फॉलोवर्स हैं।

निष्कर्ष:

इस हैशटैग का उपयोग करने का मुख्य कारण सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं के लिए इस तथ्य को व्यक्त करना था कि निजीकरण शायद एकाधिकार के लिए दरवाजे खोल देगा जो कि बनाया जाएगा। उनका मानना है कि इससे नौकरियां खत्म हो जाएंगी, अनौपचारिक क्षेत्र खत्म हो जाएगा और अंततः छोटे व्यवसायों को बंद कर दिया जाएगा। लेकिन हमारे हैशटैग विश्लेषण से साबित होता है कि पाकिस्तानी यूजर्स ने हैशटैग का इस्तेमाल अपने एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए किया। हैशटैग विश्लेषण यह देखने का एक तरीका प्रदान करता है कि किसने जनता को प्रभावित किया।