Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट-चेक: पाकिस्तानियों ने श्रीलंका टीम को दी गई एस्कॉर्ट की पुरानी तस्वीर वायरल कर गढ़ी नई कहानी

दावा 1:

17 सितंबर,2021 को एक पाकिस्तानी मीडिया के जाने माने चेहरे उमर सैफ ने एक सुरक्षा काफिले की एक तस्वीर पोस्ट की और सवाल किया कि इतनी सुरक्षा न्यूजीलैंड टीम के लिए पर्याप्त क्यों नहीं थी। दिलचस्प है कि यह तस्वीर उसी दिन पोस्ट की गई जब न्यूजीलैंड की क्रिकेट टीम ने सुरक्षा कारणओं का हवाला देते हुए पाकिस्तान दौरा रद्द कर दिया था। पाकिस्तान के लिए यह एक बड़ा झटका था, दरअस्ल पाकिस्तान, देश में अंतरराष्ट्रीय मैच कराने की कोशिश कर रहा है। 2009 में श्रीलंका की क्रिकेट टीम पर हुए हमले के बाद से पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय मैच लगभग पूरी तरह से रोक दिए गए थे।

उमर सैफ का ट्वीट


फैक्ट चेक:

गूगल पर तस्वीर को रिवर्स सर्च करने पर हमने पाया कि इस तस्वीर को 2019 में कई न्यूज मीडिया संस्थानों द्वारा पोस्ट किया था, उस वक्त श्रीलंकाई टीम को भारी सुरक्षा दी गई थी।

इसलिए यह दावा फर्जी है।

दावा 2:

21 सितंबर,2021 को अमीन राजपूत नाम के एक ट्विटर यूजर ने दावा किया कि दक्षिण अफ्रीका के क्रिकेटर हाशिम अमला ने बयान दिया है कि उन्हें पाकिस्तान में खेलने से कभी खतरा महसूस नहीं हुआ।

आमीन का दावा

फैक्ट चेक:

बयान की रिसर्च करने पर हमने पाया कि अमला ने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है। साथ ही, ट्वीट में इस्तेमाल की गई तस्वीर भी मार्च 2020 की है। पाकिस्तानी समाचार मीडिया संस्थानों ने मार्च, 2020 में पाकिस्तानी पीएम इमरान खान के साथ दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ियों के बीच इस मुलाकात की ख़बर प्रसारित की थी।

इसलिए इस यूजर का दावा फर्जी है।

सुरक्षा कारणों से कई क्रिकेट टीमों के पाकिस्तान में क्रिकेट खेलने से पीछे हटने की घोषणा के बाद पाकिस्तान से और भी फर्जी ख़बरें सामने आई हैं। हमने पहले पाकिस्तानी यूजर्स द्वारा फैलाए गए दावे की जाँच की, जिन्होंने क्रिस गेल के एक पुराने वीडियो का इस्तेमाल करते हुए कहा था कि “पाकिस्तान दुनिया के सबसे सुरक्षित देशों में से एक है”। हमारी उस रिपोर्ट को आप आप यहां फैक्ट चेक पढ़ सकते हैं।
एक और मॉर्फ्ड ट्वीट में न्यूजीलैंड के बल्लेबाज फिन एलन के हवाले से भी बताया गया कि पाकिस्तान पूरी तरह से सुरक्षित और शांतिपूर्ण है, बाद में पता चला कि यह दावा भी फर्जी है।