Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट चेक: क्या केरल में गणेश पूजा नहीं करने दिया जा रहा?

सोशल मीडिया पर ना सिर्फ फेक न्यूज़ में चलाया जाता है बल्कि इन फेक न्यूज़ को सेलिब्रेटियों के फेक अकाउंट से शेयर करके अफवाह फैलाई जाती हैं। 13 सितंबर,2021 को अभिनेत्री पायल रोहतगी के एक फर्जी अकाउंट ने एक वीडियो पोस्ट किया गया। जिसमें पुलिस अधिकारियों द्वारा गणेश चतुर्थी की रस्म को बाधित किया जा रहा था। इस वीडियो में गणेश की मूर्ति को उठाते हुए भी देखा जा सकता है।

वीडियो के साथ कैप्शन दिया गया है, “गणेश उत्सव में केरल में ये हालत हो गए हैं हिंदुओं के। हिंदू अपना त्यौहार भी नहीं बना सकता अपने हिंदुस्तान में।

यहां ध्यान दिया जाना चाहिए कि इस अकाउंट के उपयोगकर्ता ने स्वयं दावा किया है कि उनके अपने पिछले दो हैंडल ट्विटर द्वारा हटा दिए गए थे।

भाजपा कार्यकर्ता सरदार पवन गौड़ नाम के एक अन्य यूजर ने न्याय की मांग करते हुए वीडियो पोस्ट किया है।

यही वीडियो फेसबुक जैसे अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी वायरल हुआ था।

फैक्ट चेक:

इस वीडियो के मुख्य फ़्रेमों की रिवर्स सर्च करने पर, हमें इस घटना पर कई तेलगु रिपोर्ट मिलीं, जिसमें कहा गया था कि यह घटना केरल के नहीं बल्कि हैदराबाद के पटाबस्ती इलाके में हुई थी।

रिपोर्टों में कहा गया है कि यहां की भीड़ स्थानीय निवासियों के लिए असुविधा पैदा कर रही थी, इसलिए पुलिस ने उन्हें गणेश की मूर्ति के साथ हटा दिया।

तेलंगाना कि इस घटना को सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक रंग देकर और केरल के खिलाफ प्रोपेगेंडा के तहत खूब शेयर किया जा रहा है। इसलिए यह दावा भ्रामक और फर्जी है।