Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट-चेक : भाजपा नेताओं समेत कई भाजपा समर्थकों ने अखिलेश का वीडियो भ्रामक दावे के साथ पोस्ट किया

सोशल मीडिया पर सपा सुप्रीमो और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का एक वीडियो वायरल हो रहा है। 20 सेकंड के इस वीडियो को भाजपा नेताओं समेत भाजपा समर्थकों द्वारा भी शेयर किया गया है। इस वीडियो में दावा किया जा रहा है कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ के बुलडोजर नीति का लोहा मान लिया।

20 सेकंड की इस वायरल क्लिप में अखिलेश यादव बोलते हुए नज़र आ रहे हैं कि ‘हमारे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जी हर अपराधी पर, हर माफ़िया पर और इस तरह की घटनाओं पर जो दोषी होते हैं, उन पर बुलडोजर चलाते हैं। उत्तर प्रदेश के जो मुख्यमंत्री हैं, उनका काम करने का तरीक़ा ही यही है कि जो भी अपराधी है, उनके ऊपर, घरों पर बुलडोजर चलाते हैं।’

इस वीडियो को भाजपा के प्रवक्ता मुकेश शुक्ला ने ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा कि ‘मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी का तरीक़ा है कि जो अपराधी-गुण्डे हैं उन पर बुलडोजर चलवाते हैं। अखिलेश यादव ने भी माना लोहा।’

फैक्ट चेक:

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के बुलडोजर नीति का लोहा मान लिया, दावे के साथ वायरल हो रहे वीडियो का सच जानने के लिए हमने इसे invid टूल की सहायता से कुछ की-फ्रेम्स में बदला। इसके बाद एक की-फ्रेम के साथ गूगल रिवर्स सर्च किया। लेकिन हमें निराशा ही हाथ लगी, और इस वीडियो से संबंधित कोई भी रिपोर्ट नहीं मिली।

वीडियो को देखने से प्रतीत हो रहा था कि यह वीडियो आज तक चैनल द्वारा प्रकाशित किया गया है। इसके बाद हमने कुछ कीवर्ड्स का प्रयोग करते हुए इस वीडियो को यूट्यूब पर खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें आज तक के यूट्यूब चैनल पर 41 मिनट 51 सेकंड का एक वीडियो मिला, जिसको यूट्यूब चैनल पर 16 दिसंबर 2021 को अपलोड किया था। जब हमने इस वीडियो को पूरा देखा तो पता चला कि 20 सेकंड की वायरल क्लिप इसी वीडियो से काटकर शेयर की जा रही है।

इस वीडियो में आज तक चैनल की एंकर चित्रा त्रिपाठी ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से पूछा कि “अजय मिश्रा टेनी को लेकर आज संसद की कार्यवाही भी बाधित हुई है, आप लोग भी लगातार इस मुद्दे को उठा रहे हैं, लेकिन बीजेपी ने अभी तक उनका इस्तीफे नहीं लिया है। क्या आपको लग रहा है कि दवाब बनेगा और वो इस्तीफा देंगे?”

इस प्रश्न का जवाब देते हुए अखिलेश यादव ने बोला कि “भारतीय जनता पार्टी को और उनकी सरकार को गृह राज्यमंत्री को बर्खास्त करना चाहिए। हमारे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जी हर अपराधी पर, हर माफ़िया पर और इस तरह की घटनाओं पर जो दोषी होते हैं, उन पर बुलडोजर चलाते हैं। इंतजार होगा उत्तर प्रदेश की जनता को कि बुलडोजर कब लखीमपुर पहुँचेगा और दोषियों के घर, मकान कब तोड़ेगा।’

इसके बाद एंकर ने अखिलेश यादव से पूछा कि आपका कहना है कि उनके (अजय मिश्रा) घर और मकान तोड़ देना चाहिए? जिसके जवाब में अखिलेश ने कहा था कि “उत्तर प्रदेश के जो मुख्यमंत्री हैं, उनका काम करने का तरीक़ा ही यही है कि जो भी अपराधी है, वो उनके ऊपर, घरों पर बुलडोजर चलाते हैं, तो अब इंतजार होगा कि लखीमपुर की तरफ बुलडोजर कब जाएंगे।”

इसी वीडियो के 5 मिनट 54 सेकंड पर वायरल वीडियो क्लिप को देखा जा सकता है। अखिलेश द्वारा एंकर को दिये गये जवाब की क्लिप काटकर इसे भ्रामक दावे के साथ वायरल किया जा रहा है। जबकि सच्चाई कुछ और ही है। इसलिये हम इस नतीजे पर पहुंचे कि जिस वीडियो में अखिलेश को योगी आदित्यनाथ की बुल्डोजर नीति का समर्थन करते हुए दिखाया जा रहा है, वह दावा भ्रामक है, और लोगों को गुमराह करने वाला है।