Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट चेकः क्या रवीश कुमार ने चॉपर में बिपिन रावत की पत्नी मधुलिका की मौजूदगी पर सवाल उठाए?

तमिलनाडु के कुन्नुर में 8 दिसंबर को हुए हेलीकॉप्टर क्रैश में भारत के सीडीएस बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत सहित 14 भारतीय सेना के जवानों का निधन हो गया था। इस हादसे के बाद पूरा देश गमजदा है। सभी ने सीडीएस बिपिन रावत और उनकी पत्नी सहित 14 सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की। वहीं इस हादसे के बाद सोशल मीडिया पर फेक समाचारों और फोटो की बाढ़ आ गई।

फेसबुक पोस्ट

सोशल मीडिया के दक्षिणपंथी यूजर्स एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार को लेकर दावा करने लगे। सोशल मीडिया यूजर्स ने दावा किया कि रवीश कुमार ने हेलीकॉप्टर में बिपिन रावत की पत्नी की मौजूदगी को लेकर सवाल खड़े किए हैं। एक यूजर ने लिखा- “इस क्रूर हादसे के बाद भी NDTV का नीच रवीश कुमार सवाल कर रहा है कि बिपिन रावत की पत्नी हेलीकॉप्टर मे किस हैसियत से बैठी थीं। अबे दोगले जनरल की पत्नी डिफेंस वाइव्स वेलफेयर एसोसिएशन की प्रमुख हैं, यह एक संवैधानिक दर्जा प्राप्त संस्था है, जो शहीद सेना के जवानों के परिवार के लिए काम करती है।”

वहीं कई और यूजर्स द्वारा भी रवीश कुमार के लिए अपशब्दों भरे पोस्ट किए गए।

फैक्ट चेकः

रवीश कुमार का फेसबुक पोस्ट

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे दावे की हमारी टीम ने पड़ताल की। सबसे पहले हमने रवीश कुमार के फेसबुक टाइमलाइन की जांच की। रवीश कुमार ने सीडीएस बिपिन रावत को लेकर एक पोस्ट लिखा था, लेकिन उस लेख कहीं भी रवीश कुमार ने बिपिन रावत के पत्नी की हेलीकॉप्टर में मौजूदगी को लेकर सवाल खड़े नहीं किए। वहीं हमने जब उनके ट्वीटर की जांच की तो वहां भी ऐसा कोई पोस्ट नहीं दिखा, जिसमें रवीश कुमार ने सवाल उठाए हैं।

इसके बाद हमारी टीम ने रवीश कुमार के एनटीडीवी पर प्रसारित होने वाले शो “प्राइम टाइम” के वीडियो को यूट्यूब पर देखा। इस वीडियो में भी रवीश कुमार कहीं भी हेलीकॉप्टर में मधुलिका रावत की मौजूदगी को लेकर सवाल नहीं कर रहे हैं।

वहीं कई न्यूज आउटलेट्स को दिए अपने इंटरव्यू में रवीश कुमार खुद स्पष्ट कर चुके हैं कि उन्होंने कभी भी मधुलिका रावत को लेकर सवाल नहीं उठाए। रवीश ने कहा कि जिन लोगों ने ये अफवाह फैलाई है, वह भीड़ को उकसा रहे हैं। यह अफवाह काफी फैल गई है। लोग बिना सोचे-समझे इसे फॉरवर्ड कर रहे हैं। रवीश ने ऐसे लोगों से खुद की जिंदगी को खतरा बताया है।

इस फैक्ट चेक से साबित होता है कि रवीश कुमार ने कभी भी हेलीकॉप्टर में मधुलिका रावत की मौजूदगी को लेकर सवाल नहीं उठाए। इसलिए सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा झूठा, फेक और भ्रामक है। और सोशल मीडिया के लोगों से आग्रह है कि ऐसे किसी भी न्यूज और सामग्री पर बिना फैक्ट चेक भरोसा ना करें।