Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

ओमीक्रॉन के चलते राजस्थान में नहीं बंद हुए शैक्षणिक संस्थान, झूठा दावा हो रहा वायरल

जैसे ही कोरोना वायरस का नया वेरिएंट ‘ओमिक्रॉन’ सामने आ रहा है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर इस नए वेरिएंट को लेकर पोस्ट से भरे पड़े हैं। जिनमे लॉकडाउन होने और शैक्षणिक संस्थान के बंद होने के झूठे दावे किए जा रहे है।

ऐसा ही एक दावा राजस्थान सरकार के एक आदेश का परिपत्र जारी कर किया गया। जिसमे कहा गया, कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए 6 दिसंबर से आगामी आदेशों तक सभी शैक्षणिक संस्थान बंद करके अब ऑनलाइन क्लासेज चलाई जाएंगी। पत्र पर शासन सचिव गृह एन एल मीना के कथित हस्ताक्षर हैं।

फेक्ट चेक 

ज़ी राजस्थान की स्टोरी

इस दावे के बारे में पड़ताल करने पर पाया गया कि इस सबंध में किसी भी मीडिया ने कई समाचार प्रकाशित नहीं किया है। वहीं इस समय राज्य के राजस्थान के गृह सचिव सुरेश गुप्ता है। ना कि एन एल मीना। जिनके कथित परिपत्र पर हस्ताक्षर है। गृह विभाग की ओर से इस मामले में भी अशोक नगर थाने में एफआईआर (FIR) दर्ज करवाई गई। पुलिस ने आईटी एक्ट (IT Act) की धारा 66, 71 और 74 के तहत मामला दर्ज कर लिया।

इसके अलावा राजस्थान पत्रिका ने ट्वीट कर कहा, राजस्थान में स्कूल बंद का फर्जी आदेश स्कूलों के व्हाट्सएप ग्रुप पर वायरल हुआ। जिसका गृह विभाग ने खंडन किया और जांच के आदेश जारी किए है।

अत: उपरोक्त दावा फर्जी और झूठा है।