Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट चेकः टूटी छत वाला स्कूल गुजरात का नहीं उत्तराखंड का है

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर एक स्कूल की तस्वीर वायरल हो रही है। इस स्कूल की छत टूटी हुई है। टूटी छत के नीचे बैठकर बच्चे शिक्षा हासिल कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर तस्वीर को शेयर करने वाले दावा कर रहे हैं कि यह स्कूल गुजरात राज्य का है।

कई यूजर्स ने इस तस्वीर को गुजरात सरकार और प्रधानमंत्री मोदी का मजाक उड़ाते हुए आलोचनात्मक कैप्शन के साथ शेयर किया है। सोशल मीडिया के यूजर्स प्रधानमंत्री मोदी का मजाक उड़ाते हुए कमेंट कर रहे हैं कि- ‘गुजरात सरकार ने अभी-अभी खोला नया सोलर पावर स्कूल, धन्यवाद मोदीजी’

इस पोस्ट को अब तक 100 से ज्यादा रीट्वीट और लाइक मिल चुके हैं।

फैक्ट चेकः

तस्वीर को रिवर्स सर्च करने पर हमें पता चला कि यह तस्वीर गुजरात का नहीं बल्कि उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के एक सरकारी प्राथमिक स्कूल का है। अखबार दैनिक जागरण और अमर उजाला ने भी क्रमश: मार्च 2018 और अगस्त 2019 को इस पर एक रिपोर्ट प्रकाशित की है।

इन अखबारों की रिपोर्ट स्पष्ट रूप से कहती है कि यह तस्वीर उत्तराखंड की है। इसलिए इस तस्वीर का इस्तेमाल लोगों को गुमराह करने, गुजरात सरकार और भाजपा का मजाक उड़ाने के लिए किया जा रहा है। हालांकि उत्तराखंड में भी बीजेपी की ही सरकार है, इसलिए इस तस्वीर को लेकर सरकार पर सवाल तो उठता ही है।