Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फेक्ट चेक: तीन साल पहले हुई पुजारी की हत्या का VIDEO अब किया जा रहा वायरल, रहे सचेत

सोशल मीडिया पर तीन साल पहले हुई एक पुजारी की हत्या का VIDEO सांप्रदायिकता फैलाने का उद्देश्य से वायरल किया जा रहा है। इस VIDEO के साथ दावा किया जा रहा है कि तेलंगाना में एक मौलवी ने पुजारी की इसलिए हत्या कर दी कि उसे लाउडस्पीकर पसंद नहीं था।

फेसबुक यूजर महंत श्री श्री भावेशानंद जी ने 26 नवंबर को फेसबुक पर ये वीडियो अपलोड किया और दावा किया कि ‘ये न्यूज़ क्यों #वायरल नहीं हुई…? क्यूं खामोश रह जाते हैं #न्यूज चैनल??? *तेलंगना में एक #मौलवी ने “#पुजारी को मार डाला क्योंकि लाउड #स्पीकर पसंद न था।’

FB पोस्ट

फेसबुक पोस्ट का आर्काइव्‍ड वर्जन को यहां देखा जा सकता है।

फेक्ट चेक

इंडिया टुडे की रिपोर्ट

हमारी टीम ने जब इस बारे में पड़ताल की तो पाया कि ये घटना तेलंगाना के वारंगल की है। जो करीब 3 साल पहले घटित हुई थी। इस सबंध में हमे इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट मिली। जिसमे बताया गया कि मृतक देवनूर सत्यनारायण वारंगल में पोचम्मा मैदान जंक्शन के पास साईं बाबा मंदिर में पुजारी थे।

पुलिस के मुताबिक, 26 अक्टूबर को सत्यनारायण स्पीकर ऑन कर पूजा कर रहे थे। एक स्थानीय इमाम, सैयद हुसैन ने कथित तौर पर उनसे स्पीकर बंद करने के लिए कहा। हालांकि, पुजारी ने ऐसा करने से इनकार कर दिया, हुसैन ने उसके साथ मारपीट की। जिसके बाद पुजारी की हैदराबाद में निजाम के आयुर्विज्ञान संस्थान में इलाज के दौरान मौत हो गई।

निष्कर्ष: 

उपरोक्त घटना फिलहाल नहीं हुई है। सांप्रदायिकता फैलाने का उद्देश्य से VIDEO को वायरल किया जा रहा है: अत: यह भ्रामक और भड़काऊ है।