Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

जानिये सऊदी अरब में पहले कैसीनो के खुलने का सच

सोशल मीडिया पोस्ट में एक वीडियो बड़े पैमाने पर शेयर किया जा रहा है। इस वीडियो को हजारों बार देखा जा चूका है। वीडियो के साथ दावा किया गया कि सऊदी अरब में एक कैसीनो खोला गया। जहां ताश के पत्तों पर जुआं खेला जा रहा है। उल्लेखनीय है कि सऊदी अरब एक इस्लामिक देश है और यहां जुआं खेलने प्रतिबंधित है।

वीडियो को 25 मई को फेसबुक पर पोस्ट किया गया था। वीडियो में देखा जा सकता है कि सऊदी की पारंपरिक वेशभूषा सफेद वस्त्र और केफियेह पहने पुरुषों की एक भीड़ है। जो कथित तौर पर ताश खेल रही है। वीडियो  के कैप्शन में दिया गया – “वहाबी मुफ्ती के फतवे पर जेद्दा में सऊदी अरब के पहले जुआ केंद्र का हुआ उद्घाटन।”

फेसबुक पर पोस्ट वीडियो

वीडियो को फेसबुक पर 25,000 से अधिक बार देखा जा चुका है। इसके अलावा ट्विटर और यूट्यूब पर ये वीडियो पोस्ट किया हुआ है। हालाँकि ये दावा झूठा है।

फेक्ट चेक

दरअसल, गूगल पर कीवर्ड सर्च के बाद रिवर्स इमेज सर्च करने पर पता चला कि यह वीडियो यहां 7 अप्रैल, 2018 को लाइफ इन सऊदी अरब चैनल द्वारा फेसबुक पर अपलोड किया गया था। पोस्ट के कैप्शन में लिखा है: “सऊदी अरब के रियाद में बालूट चैंपियनशिप की शुरुआत हुई… “बालूट“, जो फ्रेंच बेलोट के समान है, खाड़ी के युवाओं, विशेष रूप से सउदी के बीच एक लोकप्रिय कार्ड गेम है।

Life in Saudi Arabia द्वारा पोस्ट वीडियो

यह वीडियो पाकिस्तान के एक अंग्रेजी भाषा के दैनिक समाचार पत्र द न्यूज इंटरनेशनल द्वारा 6 अप्रैल, 2018 को प्रकाशित एक रिपोर्ट में भी दिखाई दिया। लेख का शीर्षक है – “सऊदी अरब पहली बार कार्ड टूर्नामेंट की मेजबानी करते हुए”

इसके अलावा सऊदी अरब के अंग्रेजी भाषा के दैनिक समाचार पत्र सऊदी गजट और अरब न्यूज की रिपोर्ट में बताया गया कि पहला बलूट कार्ड टूर्नामेंट अप्रैल 2018 में रियाद में किंग अब्दुल्ला पेट्रोलियम स्टडीज एंड रिसर्च सेंटर में आयोजित किया गया था। रिपोर्ट के अनुसार, टूर्नामेंट के लिए कुल पुरस्कार राशि एक मिलियन सऊदी रियाल ($ 270,000) से अधिक थी।

निष्कर्ष: 

अत: “वहाबी मुफ्ती के फतवे पर जेद्दा में सऊदी अरब के पहले जुआ केंद्र का हुआ उद्घाटन।” के कथित दावे के साथ पोस्ट किया गया ये वीडियो भ्रामक है।