Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट-चेक: बांग्लादेशी हिंदुओं के खिलाफ हिंसा के विरोध में असम में जुटे हजारों लोग?

24 अक्टूबर 2012 को, जैसे ही बांग्लादेश में हिंसा पर विराम लगने की ख़बरें आईं, उसके बाद एक खेत में इकट्ठा हुए हजारों लोगों की एक तस्वीर फेसबुक पर वायरल होने लगी। यूजर्स ने दावा किया कि, यह तस्वीर असम में की है, जहां बंग्लादेश में बांग्लादेशी हिंदुओं के ख़िलाफ हुई हिंसा के विरोध में प्रदर्शन हुआ है।

फैक्ट चेक

हमने तस्वीर पर रिवर्स इमेज सर्च किया और पाया कि ट्विटर पर बहुत से यूजर्स ने 2019 में इस तस्वीर को पोस्ट किया था। यूजर्स के अनुसार, यह भीड़ मैंगलोर के नेहरू मैदान में पीएम मोदी का भाषण सुनने के लिए जमा हुई थी। यहां 2019 में पोस्ट की गई मूल तस्वीर है।

वीडियो सबूत:

चूंकि छवि पुरानी है और इरादा अलग था इसलिए यह दावा भ्रामक है।