Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट-चेक: सुदर्शन न्यूज ने एक बार फिर वायरल वीडियो के जरिए सांप्रदायिकता फैलाने की कोशिश की

कथित न्यूज़ चैनल ‘सुदर्शन’ के प्रधान संपादक सुरेश चव्हाणके ने 17 अक्टूबर 2021 को एक वीडियो इस दावे के साथ पोस्ट किया कि रुद्राक्ष पहनने पर स्कूल में की गई छात्र की पिटाई

वीडियो को सुरेश चव्हाणके और उनके न्यूज चैनल ‘सुदर्शन’ के आधिकारिक हैंडल से भी ट्वीट किया गया। वीडियो को ट्विटर पर 2,00,000 से अधिक बार देखा जा चुका है। चव्हाणके द्वारा पोस्ट किए गए इस वीडियो को देखकर लगता है कि वीडियो को किसी कक्षा में गुप्त रूप से फिल्माया गया है। जहां एक शिक्षक एक छात्र को बेरहमी से पीट रहा है, उसको बालों से पकड़ रहा है। यह वीडियो परेशान करने वाला है।

फेक्ट चेक (तथ्यों की जांच)

हमारी टीम द्वारा कीवर्ड के जरिये सर्च (खोजने) करने पर इस घटना से संबंधित विभिन्न समाचार रिपोर्टें मिलीं। रिपोर्ट के अनुसार, घटना वास्तव में तमिलनाडु में हुई थी। पुलिस ने अपनी जांच में पाया कि शिक्षक द्वारा छात्र को पीटा जा रहा था। लेकिन छात्र की पिटाई उसके कक्षा में शामिल नहीं होने को लेकर की गई थी। न की रुद्राक्ष पहन कर स्कूल आने पर।

लेकिन, सुदर्शन न्यूज ने अपने एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए इस घटना को सांप्रदायिक रंग दिया।

इसलिए, सुदर्शन न्यूज और सुरेश चव्हाणके द्वारा किया गया ‘रुद्राक्ष पहनने पर स्कूल में की गई छात्र की पिटाई’ का दावा भ्रामक है।