Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट-चेक: संबित पात्रा का दावा – अल्पसंख्यकों को खुश करने के लिए कांग्रेस की रैली में पढ़ी गई अज़ान

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने हाल ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का एक वीडियो इस दावे के साथ पोस्ट किया कि कांग्रेस की रैली में मुस्लिमों को खुश करने के लिए अज़ान पढ़ी गई।

संबित पात्रा के अनुसार, 14 अक्टूबर को प्रियंका गांधी वाड्रा की वाराणसी रैली में मुस्लिम समुदाय को खुश करने के लिए जानबूझकर अजान पढ़ी गई। उन्होने कहा कि ऐसा उन्होने तुष्टीकरण के लिए किया। उनके द्वारा पोस्ट किए गए इस वीडियो को ट्विटर पर 2,65,000 और फेसबुक पर 1,00,000 से अधिक बार देखा गया।

फैक्ट-चेक:

संबित पात्रा के इस दावे का हमारी टीम ने विश्लेषण किया। कुछ रिवर्स फ्रेम सर्च और कीवर्ड सर्च करने पर टीम को वही वीडियो मिला जो कांग्रेस के आधिकारिक यूट्यूब हैंडल द्वारा पोस्ट किया गया था। हालांकि यह वीडियो 10 अक्टूबर को किसान न्याय रैली में लिया गया था, न कि 14 अक्टूबर को जैसा पात्रा ने दावा किया है।

जब हमने पूरा इस वीडियो को पूरा देखा तो पाया कि रैली में सभी प्रमुख धर्मों से जुड़ी प्रार्थना की गई थी।

वहीं एक कांग्रेस कार्यकर्ता को वीडियो में 0:58 पर यह कहते हुए सुना जा सकता है कि “जैसा कि हमारी परंपरा रही है … कांग्रेस पार्टी हमेशा मानती रही है कि सभी धर्म समान हैं .. तो इसलिए सबसे पहले अपने हिंदू धर्म के दोस्त से अनुरोध करूंगा वो यहां मंत्रों का जाप करने के लिए आए… फिर हमारे मुस्लिम भाई, फिर हमारे सिख भाई और फिर ईसाई भाई यहां आएंगे।‘’

वीडियो में लगभग 5:04 पर “हर हर महादेव” के मंत्र भी सुने जा सकते हैं।

पात्रा द्वारा वीडियो को यह दिखाने के लिए साझा किया गया है कि रैली में केवल अज़ान पढ़ी गई थी। तो यह दावा एकदम झूठा है।