Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट-चेक: ब्रिटिश हेराल्ड ने पीएम मोदी को ‘दुनिया का सबसे शक्तिशाली व्यक्ति’ घोषित नहीं किया।

ब्रिटिश पत्रिका “ब्रिटिश हेराल्ड ” के कवर पर प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर ट्विटर पर वायरल हो रही है। यह तस्वीर 12 सितंबर को एक यूजर द्वारा पोस्ट की गई। यूजर ने दावा किया कि ब्रिटिश हेराल्ड पत्रिका ने अच्छी तरह से COVID-19 महामारी के दौरान प्रबंध को लेकर मोदी को दुनिया का सबसे शक्तिशाली व्यक्ति घोषित किया है। यूजर ने दावा किया पीएम मोदी ने अच्छी तरह से कोरोना महामारी के दौरान देश को संभाला, वैक्सीन बनवाने में मदद की साथ ही यह भी दावा किया कि मोदी 2021 में 11.2 फीसदी की अनुमानित जीडीपी वृद्धि कर देंगे।

यह पहली बार नहीं है जब इस तरह का दावा किया गया हो, पहली बार फरवरी में भी इसी तरह का दावा करते हुए उसे प्रसारित किया गया था, उस दौरान के ब्रिटिश हेराल्ड के संस्करण के दौरान भी इसी तरह का दावा किया गया था।

फैक्ट चैक:

जब हमने इस दावे की हक़ीक़त जानने के लिए पड़ताल शुरू की तो पाया कि पत्रिका के जिस अंक को लेकर दावा किया गया है उसके जुलई-अगस्त के संस्करण के कवर पेज पर एलोन मस्क हैं न कि भारतीय प्रधानमंत्री। साथ ही पुराने कवर पेजों पर जाने पर हमने पाया कि पीएम मोदी ब्रिटिश हेराल्ड के जुलाई-अगस्त 2019 के अंक के कवर पर हैं न कि 2021 में

इसके अलावा, AltNews और @SamSays नामी यूजर ने इस पत्रिका के संदिग्ध नेचर और इसकी विश्वसनीयता की जड़ में जाकर इसके मालिक के बारे में पता लगाया तो पाया इसका मालिक एक भारतीय है। जिसके बारे मे आप इस लिंक पर जाकर विस्तृत जानकारी ले सकते हैं। जहां तक पीएम को लेकर किए जा रहे दावे का सवाल है तो हमारी पड़ताल में वह दावा पूरी झूठा और भ्राम पाया गया।