Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट चेकः अफगानिस्तान में प्लेन क्रैश का झूठा वीडियो वायरल

पिछले कुछ दिनों से फेसबुक पर एक प्लेन के क्रैश होने की तस्वीर वायरल हो रही है। इस फोटो को कई अकाउंट और पेज से पोस्ट किया जा रहा है। इन पोस्टों में दावा  किया जा रहा है कि यह एक अमेरिकी विमान है जो अफगानिस्तान के फराह प्रांत में दुर्घटनाग्रस्त हो गया और दुर्घटना में सैकड़ों लोग घायल हो गए। पोस्ट को बंगाली के साथ-साथ अंग्रेजी भाषी न्यूज वेबसाइटों द्वारा भी प्रकाशित किया गया है।

फेसबुक पर शेयर की गई पोस्ट
किसी अन्य उपयोगकर्ता द्वारा इसी तरह की पोस्ट

फैक्ट चेकः

वायरल हो रहे इस फोटो की जांच करने पर कई सारे फैक्ट्स निकलकर सामने आए। गूगल पर इस फोटो को सर्च करने पर सामने आया कि पहली बार इस फोटो को 2008 में पोस्ट किया गया  था। यह फोटो अलामी वेबसाइट  पर मौजूद है। इस वेबसाइट पर प्रकाशित न्यूज से साबित होता है कि यह फोटो इराक के साथर एयर बेस में 447वें अभियान सिविल इंजीनियर स्क्वाड्रन का है। यहां 7 जुलाई को सी-130 हरक्यूलिस विमान से पंखों को अलग करने के लिए विस्फोटकों से विस्फोट किया गया।

2008 में अलामी पर पोस्ट की गई तस्वीर

ईओडी टीम हवाई जहाज को छोटे टुकड़ों में विभाजित करने के लिए डिज़ाइन किए गए नियंत्रित विस्फोटों की एक श्रृंखला का उपयोग कर रही है ताकि इसे आसानी से स्थानांतरित किया जा सके। हवाई जहाज को छोटे-छोटे टुकड़ों में बांट दिया जाता है ताकि उसे आसानी से ले जाया जा सके। दरअसल सी-130 ने 27 जून को उड़ान भरने के तुरंत बाद बगदाद अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के उत्तर में एक मैदान में आपात लैंडिंग की थी। इसलिए यह फोटो अफगानिस्तान नहीं बल्कि इराक  का है। इसलिए फोटो के साथ किया जा रहा दावा झूठा  और गलत  है।