Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट-चेकः पाकिस्तानी वीडियो को भारत का बताकर किया जा रहा वायरल

सोशल मीडिया पर अक्सर भ्रामक और गलत खबरें प्रसारित की जाती हैं। इन भ्रामक तथ्यों की जाल में कई बार सेलिब्रेटी और जानी मानी हस्तियां भी फंस जाती हैं और वह गलत खबर को अपने सोशल मीडिया अकाउंट से शेयर भी कर देती हैं। ऐसी ही एक भ्रामक और तथ्यहीन खबर को सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया जा रहा है। इस भ्रामक न्यूज को वेरीफाइड यूजर द्वारा भी शेयर किया जा रहा है।

दरअसल शोसल मीडिया पर एक हिल्स स्टेशन (पहाड़ी क्षेत्र) पर लगे ट्रैफिक जाम का वीडियो जमकर वायरल हो रहा है। वायरल हो रहे वीडियो में कई किलोमीटर लंबा जाम लगा हुआ है। दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो महाराष्ट्र के खंडाला का है। वहीं कुछ लोगों द्वारा दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले के हिल्स स्टेशन का है।

विडियो लिंक

ट्वीटर पर भैरवी गोस्वामी नाम की एक वेरीफाइड यूजर हैं। उन्होंने 27 जुलाई 2021 को इस वीडियो को खंडाला बताकर शेयर करते हुए लिखा- “खंडाला में एक खूबसूरत, आरामदेह छुट्टी पर जाना चाहते हैं? बारिश का आनंद लें, एक सुंदर लॉन्ग ड्राइव”। भैरवी गोस्वामी खुद को एक्टर और एनफ्लुएंसर बताती हैं। वहीं एक दूसरे वेरीफाइड यूजर नीलकांत बक्शी ने 26 जुलाई 2021 को इस वीडियो को शेयर करते हुए इसे खंडाला का बताया है। उन्होंने लिखा- “ठीक नहीं! ट्रैफिक जाम.. खंडाला.. घूमने वाली जगह पर कोटा सिस्टम लगेगा तभी हम सुधरेंगे”। इसके अलावा कई सारे यूट्यूब चैनल्स पर भी इस वीडियो को खंडाला का बताकर शेयर किया गया है।

फैक्ट-चेकः यह वीडियो भ्रामक और तथ्यहीन है। जांच में यह पाया गया कि यह वीडियो पाकिस्तान की कागन वैली का है। जहां ईद-उल-अजहा की छुट्टी मनाने एक साथ हजारों लोग पहुंच गए, जिससे कई किलोमीटर लंबा जाम लगा है। पाकिस्तान की न्यूज वेबसाइट “24 डिजीटल” ने 25 जुलाई 2021 को इस वीडियो को शेयर करते हुए हजारों लोगों के जाम में फंसे होने की न्यूज रिपोर्ट की है। वहीं पाकिस्तान की प्रतिष्ठित न्यूज वेबसाइट “डॉन” ने इस वीडियो को पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा राज्य के मनसेरा जिले में स्थित कागन वैली का बताया है। इससे पहले पाकिस्तान के वेबपोर्टल “द न्यूज इंटरनेशनल” के पत्रकार कासिम अब्बासी ने भी इस वीडियो को 25 जुलाई 2021 को ट्वीटर पर पोस्ट किया है।

इन तथ्यों की जांच से पता चलता है कि यह वीडियो ना तो महाराष्ट्र के खंडाला का है और ना ही हिमाचल प्रदेश के किन्नौर का है। बल्कि यह वायरल हो रहा यह वीडियो पाकिस्तान की कागल वैली का है।