Digital Forensic, Research and Analytics Center

शनिवार, जून 25, 2022
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
होमFact Checkफ़ैक्ट चेक: कनाडा में मंकीपॉक्स के 95% मामले हक़ीक़त में दाद के हैं?

फ़ैक्ट चेक: कनाडा में मंकीपॉक्स के 95% मामले हक़ीक़त में दाद के हैं?

Published on

Subscribe us

मंकीपॉक्स (monkeypox) पिछले कई दशकों से अफ्रीक़ी देशों में आम है, लेकिन अब ये बीमारी दुनिया के अन्य देशों में भी फैल रही है। खासकर अमेरिका, कनाडा और कई यूरोपीय देशों में इसके मामले सामने आ रहे हैं। मंकीपॉक्स के 11 देशों में अब तक 80 मामले पाए जा चुके हैं।

सोशल मीडिया साइट्स पर वायरल हो रहे एक न्यूज़ स्क्रीनशॉट के माध्यम से यूज़र्स दावा कर रहे हैं कि कनाडा में इस बात की तस्दीक़ हो चुकी है कि मंकीपॉक्स (monkeypox) के 95% मामले वास्तव में दाद  के मामले हैं।

प्रोजेक्ट टैब्स नामक यूज़र्स ने एक CTV News की स्क्रीनशॉट ट्वीट किया और कैप्शन में लिखा- “तस्दीक़ हो चुकी कि कनाडा में मंकीपॉक्स (monkeypox) के 95% मामले हक़ीक़त में दाद के मामले हैं। देखिए! अब आगे क्या होता है? इससे पहले कि वे अपने एजेंडे को सामने लाएं, हम उनकी योजनाओं को नाकाम कर देते हैं।” (हिन्दी अनुवाद)

Tweet Screenshot

CTV News की इस स्क्रीनशॉट में सुर्ख़ी में है,“Health officials investigating two dozen suspected cases of monkeypox across Canada found that 95 % cases are shingles.” यानी पूरे कनाडा में मंकीपॉक्स (monkeypox) के दो दर्जन संदिग्ध मामलों की जांच करने वाले स्वास्थ्य अधिकारियों ने पाया कि 95% मामले दाद के हैं।

इसी तरह ब्रेंडा फुल्लर नामक यूज़र ने भी वही न्यूज़ स्क्रीनशॉट को कैप्शन, “जबसे मैंने मंकीपॉक्स (monkeypox) के बारे में हेडलाइन सुना है, सोच में हूं कि क्या बला है? उत्तरी अमेरिका में? चरम दाद का गलत इलाज। . . यह मैं खरीद सकती हूँ।” (हिन्दी अनुवाद)

facebook screenshot

फ़ैक्ट चेक: 

वायरल हो रहे इस न्यूज की पड़ताल के लिए हमने गूगल सर्च किया। लेकिन हमें ऐसी कोई ख़बर कहीं नज़र नहीं आई।

Google screenshot search

इसके बाद हमने कनाडा के  CTV Television Network की वेबसाइट और ट्विटर की जांच की, दरअसल वायरल न्यूज का सोर्स सीटीवी को दिया जा रहा है। हमें सीटीवी पर भी ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली।

web search screenshot

निष्कर्ष:

DFRAC के इस फ़ैक्ट चेक से साबित होता है कि सोशल मीडिया यूज़र्स द्वारा किया जा रहा दावा भ्रामक है, क्योंकि जिस न्यूज़ स्क्रीनशॉट की बुनियाद पर दावा खड़ा है, वह एडिटेड है।

 (आप #DFRAC को ट्विटरफ़ेसबुकऔर यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)

Popular of this week

Latest articles

महाराष्ट्र में शिवसेना और NCP कार्यकर्ताओं के बीच हुई हाथापाई और मारपीट?, पढ़ें- फैक्ट चेक

महाराष्ट्र में शिवसेना अपने विधायकों की बगावत से जूझ रही है। पार्टी के कई...

पूर्व राष्ट्रपति पाटिल के PM मोदी की तारीफ़ करने का फ़र्ज़ी दावा वायरल 

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट जमकर वायरल हो रहा है। इस पोस्ट मे दावा...

फैक्ट चेकः Samajwadi Party नेता ने लिसिप्रिया कंगुजम को विदेशी बताने के पीछे मीडिया को ठहराया दोषी

ताजमहल को लेकर Samajwadi Party के डिजिटल मीडिया कोआर्डिनेटर मनीष जगन अग्रवाल ने एक...

फैक्ट चेक: Aaditya Thackeray को लेकर ज़ी न्यूज, इंडिया TV सहित कई मीडिया चैनलों ने फैलाया झूठ

महाराष्ट्र में शिवसेना के अंदर गतिरोध जारी है। पार्टी के कई विधायक एकनाथ शिंदे...

all time popular

More like this

महाराष्ट्र में शिवसेना और NCP कार्यकर्ताओं के बीच हुई हाथापाई और मारपीट?, पढ़ें- फैक्ट चेक

महाराष्ट्र में शिवसेना अपने विधायकों की बगावत से जूझ रही है। पार्टी के कई...

पूर्व राष्ट्रपति पाटिल के PM मोदी की तारीफ़ करने का फ़र्ज़ी दावा वायरल 

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट जमकर वायरल हो रहा है। इस पोस्ट मे दावा...

फैक्ट चेकः Samajwadi Party नेता ने लिसिप्रिया कंगुजम को विदेशी बताने के पीछे मीडिया को ठहराया दोषी

ताजमहल को लेकर Samajwadi Party के डिजिटल मीडिया कोआर्डिनेटर मनीष जगन अग्रवाल ने एक...

फैक्ट चेक: Aaditya Thackeray को लेकर ज़ी न्यूज, इंडिया TV सहित कई मीडिया चैनलों ने फैलाया झूठ

महाराष्ट्र में शिवसेना के अंदर गतिरोध जारी है। पार्टी के कई विधायक एकनाथ शिंदे...

फैक्ट चेक: पीएम मोदी की तारीफ करते ऑस्ट्रेलियाई पीएम का पुराना वीडियो वायरल

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टोनी एबॉट का नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए एक वीडियो सोशल मीडिया...

फ़ैक्ट चेक: अमूल का बैनर सोशल मीडिया पर क्यों हो रहा है वायरल? जानिए, पीछे की कहानी 

अमूल (Amul) भारत का ऐसा ब्रांड है कि यहां बच्चा बच्चा अमूल के बारे...