Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फेक्ट चेक: त्रिपुरा के वीडियो को बांग्लादेश की ताजा हिंसा से जोड़ कर फैलाया गया

बांग्लादेश में  जारी हिंसा के बीच कई वीडियो ऑनलाइन शेयर किए जा रहे है। ऐसा ही एक वीडियो रंगपुर में हुई हिंसा से जोड़कर ऑनलाइन जमकर शेयर किया जा रहा।

इस वीडियो को सबसे पहले बांग्लादेश हिंदू एकता परिषद के वेरिफाईड अकाउंट (सत्यापित खाते) से शेयर (साझा) किया गया था, जिसमें दावा किया गया कि ‘रंगपुर में हिंदू मंदिरों और घरों को जलाया जा रहा है।

सिर्फ ट्विटर पर ही इस वीडियो को 2,60,000 से अधिक बार देखा जा चुका है और फेसबुक पर इससे कई अधिक बार देखा जा चुका है।

Fact-Check (तथ्यों की जांच)

हालांकि, रिवर्स इमेज सर्च करने पर,  हमारी टीम को वीडियो के सबंध में त्रिपुरा के करातीछारा में लगी आग की कई स्थानीय मीडिया कवरेज मिली।

स्थानीय मीडिया कवरेज के अनुसार, आग वास्तव में 13 अक्टूबर 2021 को एक संदिग्ध शॉर्ट सर्किट से लगी थी। इसमें कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं था।

इसलिए यह दावा फर्जी और झूठा है।