Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

फैक्ट चेक: भारतीय सेना का जवान सिनेमाई अंदाज में एक आतंकी को पकड़ता है। सही या गलत?

कुछ दिनों पहले, एक अधिकारी द्वारा एक हमलावर को फिल्मी अंदाज़ में पकड़ने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होना शुरू हा था। वायरल वीडियो में पुलिस वाहन को एक बाइक सवार को टक्कर मारते हुए देखा जा सकता है जिसके बाद एक पुलिस अधिकारी कार के ऊपर से कूद कर अपराधी पर झपटते हुए दिखाया गया है। इस वीडियो को कई लोगों ने कश्मीर की घटना बताकर सोशल मीडिया पर वायरल किया, और दावा किया गया कि भारतीय सेना के एक जवान ने वीरतापूर्वक एक आतंकवादी को पकड़ा है।

फेसबुक पर शेयर किया वीडियो

दावे की हक़ीक़त


वीडियो में जिस पुलिस कार को दिखाया गया है, उस कार भारतीय पुलिस और भारतीय सेना द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली कारों के बेड़े से संबंधित नहीं है। इस वीडियो के फ्रेम को रिवर्स सर्च करने पर हमने पाया कि यह वीडियो वास्तव में ब्राजील के पेरोला में एक अगस्त, 2021 को शूट हुआ था। वायरल वीडियो ब्राजील की पुलिस का है, जिसमें ब्राजील पुलिस के एक अफसर ने एक 17 वर्षीय लड़के को अपराध करने के बाद भागने की कोशिश करते हुए पकड़ा था, इस घटना से संबंधित ख़बरें ब्राजील के कई अख़बारों में भी प्रकाशित हुई हैं।
पड़ताल में हमने पाया कि सोशल मीडिय पर कश्मीर के नाम से वायरल होने वाला वीडियो भारत का नहीं बल्कि ब्राजील का है, जिसे कई सोशल मीडिया यूजर्स द्वारा भारतीय सेना की ‘बहादुरी’ के तौर पर प्रदर्शित किया जा रहा है।

ब्राजील से असली वीडियो