फैक्ट चेक: सिख युवक की पिटाई का भ्रामक वीडियो वायरल

0
21

सोशल मीडिया पर एक वीडियो बड़े पैमाने सांप्रदायिक एंगल से वायरल हो रहा है। जिसमे कुछ युवकों को एक युवक की बेदर्दी से पिटाई करते हुए देखा जा सकता है।

Source: Twitter

ट्विटर पर वीडियो को पोस्ट कर कौर सिंह प्रीत नामक एक यूजर ने लिखा कि ये मामला लखीमपुर खीरी का बताया जा रहा सिख युवक को बुरी तरह से मारा जा रहा है किसानों पर गाड़ी चढ़ा दी गई थी मंत्री के लडके ने ये युवक तब उस घटना का गवाह था।

फैक्ट चेक:

Source: Twitter

वायरल वीडियो के साथ किये गए दावे की जांच के लिए DFRAC टीम  ने सबसे पहले InVID टूल की मदद से गूगल को कीफ्रेम में बदला। उसके बाद  कीफ्रेम को रिवर्स सर्च इमेज किया तो हमें ऐसा ही वीडियो ट्विटर पर अलग- अलग केप्शन के साथ मिला। जिसमे घटना भभूआ की बताई गई। साथ ही पीड़ित युवक को मुस्लिम बताया गया।

आगे की जांच में हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड सर्च किए तो हमें दैनिक जागरण और इंडिया टुडे की रिपोर्ट मिली। जिसमे वायरल वीडियो के स्क्रीनग्रेब का इस्तेमाल किया गया।

रिपोर्ट में बताया गया कि बिहार के कैमूर जिले के भभुआ में वार्ड पार्षद के बेटे ने कथित तौर पर एक व्यक्ति को गोली मार दी। आरोपी वार्ड पार्षद के बेटे को स्थानीय लोगों की भीड़ ने पुलिस के सामने दिनदहाड़े बेरहमी से पीटा। घटना भभुआ के शिवाजी चौक इलाके की है।

Source: Twitter

इसके अलावा हमें यूपी पुलिस का भी एक ट्वीट मिला। जिसमे कहा गया कि यह वीडियो उत्तर प्रदेश से न होकर थाना भभुआ, जनपद कैमूर, बिहार में वर्ष 2019 की घटना से  संबंधित है। भ्रामक सूचना फैलाने के संदर्भ में @kheripolice को आवश्यक वैधानिक कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया है।

निष्कर्ष:

अत: DFRAC के फैक्ट चेक से स्पष्ट है कि वायरल वीडियो भ्रामक है। क्योंकि ये घटना यूपी के लखीमपुर खीरी की नहीं बल्कि बिहार के भभूआ नगर की है।